अगर आपको रिटायरमेंट की चिंता है तो उसके लिए आपको सरकारी स्कीम आपकी मदद करेगी। इसमें आप हर महीने थोड़ी राशि निवेश करके अपने रिटायरमेंट की तयारी कर सकते है। मतलब अगर 60 साल के बाद भी आप ठाट से रह सकते है बिना किसी चिंता से। अटल पेंशन योजना (APY) कम वक्त में लोकप्रिय हो गई है. इसकी बढ़ती लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि लॉन्च होने के 5 साल बाद आज इसके सब्सक्राइबर्स की संख्या करीब 2.4 करोड़ हो चुकी है।

तो आप इन सरकारी स्कीम का फायदा उठा सकते है, सरकार की कई भोरसेमन्द पेंशन स्कीम है। जिनसे जुड़कर आप 60 साल की उम्र के बाद एक अच्छी पेंशन पा सकते है। अटल पेंशन योजना उनही में से एक अच्छी सरकारी स्कीम है जो आपको काफी अच्छी सर्विस प्रदान करती है।

अटल पेंशन योजना क्या है

अटल पेंशन योजना(APY), भारत के नागरिको के लिए एक पेंशन योजना है, जो असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को धयान में रखकर बनाई गयी है। इसमें रिटायरमेंट पाने वाला व्यक्ति एक तय मासिक पेंशन 1000-5000 रुपए तक पा सकते है। अटल पेंशन योजना इंडिया पोस्ट की ब्रांच में भी उपलब्द है। जो कोर- बैंकिंग सलूशन की सपोर्ट करती है। अटल पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए आपका बैंक में खाता होना जरुरी है जो आधार कार्ड से जुड़ा हुआ हो.

बता दें कि 18 साल से लेकर 40 साल तक की आयु के लोग इस योजना से जुड़ सकते हैं. हालांकि, इस योजना का लाभ वे लोग ही उठा सकते हैं, जो इनकम टैक्स स्लैब से बाहर हैं. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और निजी क्षेत्र के बैंकों द्वारा अटल पेंशन योजना (APY) खाते खोले जा रहे हैं, जो नए APY नामांकन में भाग ले रहे हैं.

इसे भी पढ़े

7 Investment 2021-में ऐसे शुरू करें निवेश होगा मोटा मुनाफा

कौन ले सकता है यह स्कीम

APY में कोई भी भारतीय निवेश शुरू कर सकता है। इसमें 18-40 साल के उम्र के लोग अटल पेंशन योजना ले सकते है। उपभोक्ता के पास बैंक या डाकघर में सेविंग अकाउंट होना जरुरी है। हर उपभोगता के पास केवल एक अटल पेंशन अकाउंट हो सकता है।

किस उम्र में आप ज्वाइन कर सकते कर सकते है अटल पेंशन योजना(APY)

APY के लिए लोगों को 6 भागों में बांटा गया है. अटल पेंशन योजना का फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चहिए. अटल योजना के तहत पेंशन पाने के लिए आपको कम से कम 20 साल तक निवेश करना होगा.

  • उम्र 18 साल

हर महीने योगदान: 210 रुपये
सालाना योगदान: 2520 रुपये
42 साल में योगदान: 105840 रुपये
60 साल बाद पेंशन: 5000 रुपये महीना

  • उम्र 30 साल

हर महीने योगदान: 577 रुपये
सालाना योगदान: 6924 रुपये
42 साल में योगदान: 207720 रुपये
60 साल बाद पेंशन: 5000 रुपये महीना

  • उम्र 39 साल

हर महीने योगदान: 1318 रुपये
सालाना योगदान: 15816 रुपये
42 साल में योगदान: 332136 रुपये
60 साल बाद पेंशन: 5000 रुपये महीना

18 साल, 30 साल और 39 साल में जुड़ने पर आपका कुल योगदान 105840 रुपये, 207720 रुपये और 332136 रुपये होगा. जिसके बाद आप 60 की उम्र के बाद 5000 रुपये पेंशन के हकदार होंगे. लेकिन 18 की उम्र वालों की तुलना में 39 साल वाले को 3 गुना और 30 साल वाले को करीब 2 गुना पैसा जमा करना होगा

कौन नहीं ले सकता है यह स्कीम

ऐसे लोग जो आयकर के दायरे में आते हैं, सरकारी इम्प्लाई हैं या फिर पहले से ही ईपीएफ, ईपीएस जैसी योजना का लाभ ले रहे हैं वे अटल पेंशन योजना का हिस्सा नहीं बन सकते है।

ऑटो डेबिट की सुविदा

रजिस्ट्रेशन के समय अपने जो राशि को मासिक, तिमाही या छमाही पर चुना होगा, यह सीद्दे आपके बैंक अकाउंट से काट लिए जायगे। यह राशि 42 रुपया से लेकर 1454 रुपया तक अलग- अलग हो सकती है। पहली क़िस्त रेजिट्रेशन के समय कस्टमर के सेविंग्स बैंक अकाउंट से काट ली जाती है। ऑटो डेबिट सुविदा को आप अप्रैल महीने से बदल सकते है।

अटल पेंशन योजना के फायदे

(APY) में निवेश से रिटायर होने के बाद आप हर माह पेंशन पाने के हकदार हो सकते हैं. APY योजना की सबसे बड़ी खासियत यह है कि अगर आपकी असामयिक मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार को फायदा जारी रखने का प्रावधान है. अटल पेंशन योजना (APY) में निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी पत्नी और पत्नी की भी मृत्यु होने की स्थिति में बच्चों को पेंशन मिलने का प्रावधान है.

आप जितनी जल्दी अटल पेंशन योजना से जुड़ेंगे उतना अधिक फायदा मिलेगा. अगर कोई व्यक्ति 18 साल की उम्र में अटल पेंशन योजना से जुड़ता है तो उसे हर महीने 210 रुपये का निवेश करना होगा. रिटायर होने के बाद 60 साल की उम्र से आपको हर महीने 5000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी।

बकाया योगदान के भी पेमेंट करने का ऑप्शन

अगर किसी उपभोगता के पास नियत तारिक पर सेविंग्स अकाउंट में पर्यापत राशि नहीं है, तो यह योजना बकाया बयाज के साथ देर हो चुकी क़िस्त का पेमेंट करने का ऑप्शन देती है। यह हर 100 रुपया पर 1 रुपया एक्स्ट्रा बयाज देना होता है।

अगर 60 साल से पहले ही योजना से जुड़े व्यक्ति की मौत हो जाती है। तो फिर उसकी पत्नी या पति इस योजना से पैसे जमा करने जारी रख सकते है। और 60 साल के बाद हर महीने पेंशन प् सकते है। एक ऑप्शन यह है। की उस व्यक्ति की पत्नी अपने पति के मौत के बाद के बाद रकम का दावा कर सकती है। अगर पत्नी की भी मौत हो जाती है। तो यह सारी रकम उनके नॉमिनी को दे दी जाती है।


1 Comment

7 Investment 2021-में ऐसे शुरू करें निवेश होगा मोटा मुनाफा | BUSINESS ME · January 8, 2021 at 1:10 pm

[…] अटल पेंशन योजना क्या है और इसके लाभ-Atal Pen… […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *