HomeFarming Ideasबांस की खेती, जिससे पूरी जिंदगी होगी कमाई जाने कैसे Bamboo Farming...

बांस की खेती, जिससे पूरी जिंदगी होगी कमाई जाने कैसे Bamboo Farming in Hindi

bamboo cultivation in hindi, bamboo cultivation in hindi, bamboo farming in hindi, bamboo farming in india hindi

Bamboo Farming- आज भारत देश में खेती बहुत बड़े लेवल पर की जा रही है।आज के समय में बहोत से किसान नये नये चीज़ो की खेती करके अच्छे पैसे कमा है। इसी वजह से आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है। आप कैसे बांस की खेती करके अच्छे पैसे कमा सकते है। आज भारत में बहोत किसान बांस की खेती कर रहे है। बांस की खेती की सबसे अच्छी बात ये है की इसमें आपको ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत नहीं है। 

आज भारत में बहोत से किसान खेती के लिए लोन लेते है। फिर भी उन्हें खेती से अच्छी फसल नहीं देखने को मिलती है। यैसे में उनके के लिए बांस की खेती काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। इसमें ना सिर्फ आपको ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की जरूरत नहीं है इसके अलावा बांस की खेती Bamboo Farming in Hindi से आपको अच्छा मुनाफा भी देखने को मिलता है। अब दोस्तों हम बिना समय गवाये बात करते है बांस क्या है और इसके उपयोग क्या है। 

बांस क्या है और इसके उपयोग (Bamboo Farming in Hindi)

अब हम बात करते है की बांस क्या है? साथ में बांस के उपयोग क्या है? बांस एक तरह का पेड़ है। बांस को बहोत से लोग Bamboo के नाम से भी जानते है। यह Bamboo बहुत पतले और लंबे होते है इनका इस्तमाल बहोत सी चीज़ों में किया जाता है। जैसे आप जो भी रोज की ज़िंदगी में चीज़े इस्तेमाल करते है उसमे bamboo का यूज़ होता है। 

बांस का उपयोग न्यूज़पेपर,चेयर,प्लायवुड,कुल्फी की लकड़ी,चॉपस्टिक इन सब में होता है। इसके अलावा भी बहोत सी चीज़ो में बम्बू यानि बांस का उपयोग होता है। जैसे आप जो Bus या रिक्शा में सफर करते है उसमे जो Bio CNG यूज़ होता है वह Bamboo से बनता है। इसके साथ ही घर बनाने के वक़्त भी बांस की जरूरत होती है। इस तरह के बहोत सी चीज़ो में बांस की जरूरत पड़ती है।  


आम की खेती की जानकारी, किस्में, बागवानी और रोग, कमाई कितनी Mango Farming in Hindi

बांस की खेती कैसे करें (Bamboo Farming)

अब हम बात करेंगे की कैसे आप बांस की खेती Bamboo Farming कर सकते है। 

बांस की खेती के लिए जलवायु और मिट्टी 

बांस की खेती Bamboo Farming करने के लिए आपको बलुई या दोमट मिट्टी की जरूरत होगी। आप इसकी खेती के लिए जो भी  मिट्टी का इस्तेमाल करे उसका पीएच तापमान भी 6.5 से 7.5 इतना होना चाहिए। इसकी खेती के लिए इस्तमाल की जानी वाली मिट्टी की सबसे पहले आपको कृषि विज्ञान केंद्र से आपको जांच करवानी होगी। आमतौर पर बांस की नर्सरी मार्च से अप्रैल महीने में बनाई जाती है। 

इसके अलावा बात करे बांस की खेती Bamboo Farming के लिए उपयुक्त जगह की तो इसकी खेती आप किसी भी जगह पर कर सकते है। इसकी खेती करते वक़्त आपको एक बात का ध्यान देना है की बांस की खेती के लिए आपको यैसी जगह का चुनाव करना होगा जिस जगह पर ज्यादा मात्रा में पानी उपलब्ध हो। इसका कारन ये है की बांस की खेती में मात्रा में पानी की आवश्यकता लगती है। 

लैवेंडर के फूलों की खेती कैसे करे, कमाई कितनी, सभी जानकारिया Lavender Farming in India Hindi

बांस की किस्में कोनसी है

आज भारत में बांस की करीब करीब 100 से ज्यादा आपको किस्में आपको देखने को मिलती है। इसमें से सबसे ज्यादा लोकप्रिय किस्मों के नाम है बम्बूसा ऑरनदिनेसी, बम्बूसा पॉलीमोरफा, किमोनोबेम्बूसा फलकेटा, डेंड्रोकैलेमस स्ट्रीक्स, डेंड्रोकैलेमस हैमिलटन और मेलोकाना बेक्किफेरा। यह सभी किस्में भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। जैसा मैंने आपको बताया की बांस की खेती पुरे भारत देश में की जाती है। तो ये सभी किस्में की खेती आप लगभग पुरे देश में कर सकते है। 

बांस की खेती करने के तरीके क्या है?

आप बांस की खेती Bamboo Farming चार तरीके से कर सकते है। जैसे सबसे पहला तरीका है बीज से आप नार्मल जमींन में बीज डालकर बांस की खेती कर सकते है। दूसरे तरीके में आप टिश्यू पेपर नर्सरी के मदत से इसकी खेती कर सकते है। तिसरे तरीके में आप बांस का पौधा लगाकर इसकी खेती कर सकते है। आखिर में आप बांस के जो बचे हुए जड़ रहते है उनकी मदत से बांस की खेती कर सकते है। 

अब इसमें अगर आप टिश्यू पेपर की मदत से इसकी खेती करना चाहते है। तो इसकी सलाह मैं आपको नहीं दूंगा इसका कारण ये है टिश्यू पेपर में लगाने हुए पौधे ज्यादा तर ख़राब निकलते है या मर जाते है। इसके अलावा आप इसकी खेती अगर बीज लगाकर करते है। तो इस तरीके में आपका बांस पेड़ बड़ा बनने में बहोत समय लगेगा।

 इसी वजह से मैं आपको सलाह दूंगा की आप या तो नर्सरी से इसके पौधे ला सकते है। या इससे अच्छा आप किसी किसान के पास से इस पेड़ के काटे हुए बांस के जड़ ला सकते है। इन दोनों तरीके से अगर आप बांस की खेती करते है तो आपको कम समय में ज्यादा मुनाफा देखने को मिल सकता है। 

हल्दी की खेती कैसे करे, कमाई कितनी, सभी जानकारिया Turmeric Farming in Hindi

बांस का पौधा की रोपाई कैसे करे के तरीके

दोस्तों अब हम बात करने वाले कैसे आप बांस के पौधे की जमीन में रोपाई कैसे कर सकते है। सबसे पहले आपको बांस के पौधों को नर्सरी से लाना होगा। अब इसमें आप प्राइवेट नर्सरी से बांस के पौधों को ला सकते है या सरकारी नर्सरी से भी आप इन पौधों को ले सकते है। प्राइवेट नर्सरी में आपको पौधों के लिए पैसे देने पड़ेंगे। वही पर बात करे की सरकारी नर्सरी की तो उसमे आपको पौधे फ्री में भी मिल सकते है। 

एक बार आपको बांस के पौधे Bamboo Farming मिल गए उसके बाद बारी आती है उन्हें जमींन में लगाने की। तो इसके लिए आपको मैं बता देता हु इसके पौधे जमीन में लगते वक़्त आपको लाइन से 12 Feet की दूसरी एक पेड़ से दूसरे पेड़ के बेच रखनी है। इसके अलावा एक लाइन से दूसरे लाइन के बिच में आपको 4 Feet की जगह रखनी है। इससे ये होगा की जब आपके पेड़ बड़े होंगे तो वह आपस में टकराएंगे नहीं। 

इस तरह से आपको इतनी दुरी रखकर 30 सेंटीमीटर गहरा खड़ा करना है। ध्यान में रखिये की ये बात हम नर्सरी के पौधे लगाने Bamboo Farming की कर रहे है। जो आपने गड्डा किया है उसमे आपको गोबर की खाद मिलकर उसमे बांस के पौधों को अच्छी तरह रखना है। पौधा रखने के बाद आपको उस गड्डे को अच्छे तरह मिट्टी से भरना है। इसके बाद आपको रोज़ 10 दिन तक इन पौधों को पानी देते रहना है। इस तरह से आप बांस के पौधे की रोपाई Bamboo Farming कर सकते है। 

आर्गेनिक फार्मिंग करने के तरीके, ऐसे करे खेती कमाई लाखो में How to Start Organic Farming in Hindi

बांस की खेती की निराई-गुड़ाई और खरपतवार

बांस की फसल Bamboo Farming की रोपाई के बाद किट और रोग प्रतिबंधन करना बहोत जरूरी है। इसके लिए रोपाई करने के बाद एक साल तक आपको फसल की निगरानी करते रहनी होगी। इसके साथ ही रोपाई के बाद हर महीने के महीने फसल में निराई-गुड़ाई करते रहे। समय समय पर निराई-गुड़ाई करते रहने से खरपतवार ज्यादा तर ख़तम हो जाता है। Bamboo Farming इसके अलावा रोपाई के दूसरे साल में पौधों के आसपास 2 से 2.5 मीटर का घेरा करे और उसमे 30 सेंटीमीटर गहरी गुड़ाई करे। 

बांस की खेती में उर्वरक प्रबंधन 

बांस की खेती में आपको खाद या फ़र्टिलाइज़र इन सब चीज़ो में खर्चा करने की जरूरत नहीं होती है। जैसा मैंने आपको आर्टिकल के शुरुवात में बताया था की बांस की खेती आप बहोत कम इन्वेस्टमेंट के साथ शुरू कर सकते है। बांस की खेती में आपको सिंचाई में काफी ध्यान देना होगा। बांस की खेती में आपको ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है। कुछ किस्में यैसी भी होती जिन्हे ज्यादा पानी की जरूरत नहीं भी पड़ती है। 

बांस की खेती में लागत 

Bamboo Farming Cost- अब हम बात करते है की बांस की खेती में आपको इन्वेस्टमेंट कितनी लगेगी। तो बांस की खेती में आपको इन्वेस्टमेंट लगभग ना के बराबर लगती है। वह कैसे मैं आपको बताता हु बांस की खेती में आपको किसी प्रकार के फ़र्टिलाइज़र या खाद की जरूरत नहीं होती है। इसमें बस आपका जो खर्चा आयेगा वह आयेगा सिर्फ पौधों को लेने में। 

इसमें भी आप अगर इसका पौधा किसी सरकारी नर्सरी से लेते है तो वह आपको फ्री में मिलेगा। आप अगर इसका पौधा किसी सरकारी नर्सरी से नहीं लेते है। आप प्राइवेट नर्सरी से इसका पौधा लेते है तो उस केस में आपको इन्वेस्टमेंट लग सकती है। पर इसमें भी बहुत सी जगह पर सरकार राष्ट्रीय बांस मिशन के तहत आपको 50% तक सब्सिडी सरकार द्वारा Bamboo Farming मिल सकती है। 

बादाम की खेती, कैसे होती है, कमाई कितनी होती है Almond Farming in India Hindi

बांस की खेती में होने वाला मुनाफा 

Bamboo Farming Profit- दोस्तों अब हम बात करते है की बांस की खेती में आपको कितना प्रॉफिट हो सकता है। मैं आपको यह सिर्फ एक अंदाजे के लिए बता रहा हु। बांस की खेती आप अगर एक एकड़ में करते है तो एक एकड़ खेत में आप 900 बास के पौधे लगा सकते है। तो एक बांस के पौधे से करीब चार बांस के पेड़ निकाल आते है। 

इन सब को अगर हम कैलकुलेट करे तो 900*4=3600 तो आपको तीन साल में 3600 Bamboo के पेड़ देखने को मिल सकते है। आज नार्मल 40 feet बांस की किंमत 50 रुपये है। तो इस हिसाब से देखे तो 3600*50=1,80,000 तो इतनी कमाई आपकी हर साल हो सकती है। 

मोती की खेती कैसे की जाती है? घर बैठें करें लाखों की कमाई Pearl Farming Hindi

बांस की खेती की हार्वेस्टिंग कब करें

  • आप बांस की खेती की हार्वेस्टिंग तीन साल बाद कर सकते है। आपको शुरू में तीन साल का इंतज़ार करना पड़ सकता है पर बाद में आप हर साल बम्बू की हार्वेस्टिंग कर सकते है। 
  • इस पौधे एक खास बात ये है की इसे एक बार लगाने के बाद आपको ये बहोत सालो तक पैसे दे सकता है। 

तो दोस्तों आप इस तरह से Bamboo Farming in Hindi कर सकते है। आपको अगर ये जानकरी अच्छी लगी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Ankit Kashyap
Ankit Kashyap
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकित कश्यप है मै businessme.in का फाउंडर हु इस ब्लॉग के दुवारा मै अलग अलग जगह से सभी जानकारिया जुटा कर आप तक इस ब्लॉग के माध्य्म से पहुंचाता हु ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज  निवेश, फाइनेंस, स्टॉक मार्किट और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है अगर आप किसी अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करना चाहते है तो आप हमको सम्पर्क करने के लिए [email protected] और [email protected] पर सम्पर्क कर सकते है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular