HomeLoan and FinanceOverdraft Account की सभी जानकारिया Overdraft Account Hindi

Overdraft Account की सभी जानकारिया Overdraft Account Hindi

Business Overdraft Account Hindi, Overdraft account Meaning In Hindi, what is overdraft hindi, od account means hindi, how to get od from bank hindi, what is an overdraft account hindi, bank overdraft accounting hindi.

बैंक में बहुत से अकाउंट होते है सेविंग हो या करंट अकाउंट सब में लेन देन होती है आप इनमे से आप कभी भी अपना पैसा निकाल या जमा करवा सकते है आज हम आपको ओवरड्राफ्ट बैंक अकाउंट की सभी जानकारिया देने वाले है। overdraft account meaning in hindi

ओवरड्राफ्ट बैंक अकाउंट Overdraft Account Hindi जैसे नाम से ही पता चल रहा है ओवर यानि अपनी लिमिट से ज्यादा पैसे निकालना और उसको प्रयोग करना इसके कुछ नियम भी होते है आइए ओवरड्राफ्ट अकाउंट के बारे में पूरी जानकारिया विस्तार से जानते है। overdraft account meaning in hindi

Overdraft Account क्या होता है?

What is Overdraft Account Hindi- आपके पास जो भी बैंक अकाउंट (overdraft loan meaning) होते है उनमे से आप केवल जितने पैसे अपने जमा करवा रखे है वही आप प्रयोग कर सकते है लेकिन ओवरड्राफ्ट अकाउंट में आप अपने ज़रूरत के हिसाब से कितने भी पैसे प्रयोग कर सकते है।

overdraft meaning in hindi-ओवरड्राफ्ट एक बैंक की अच्छी सुविधा है है जो बैंक दुवारा कस्टमर को दी जाती (od means in bank) है इसके दुवारा आप तब भी अपने अकाउंट से पैसे निकाल overdraft in hindi सकते है जब आपके अकाउंट में पैसे मौजूद न हो इसमें बैंक अपने कस्टमर के लिए एक लिमिट तय करता है ये लिमिट बैंक दुवारा आपको दी जाती है की आप बैंक में लें दें कैसा है आपका क्रेडिट स्कोर कैसा अन्य कुछ जानकारिया जुटाने के बाद बैंक दुवारा आपका ओवरड्राफ्ट अकाउंट शुरू किया जाता है जब आप ओवरड्राफ्ट अकाउंट से पैसे निकलते है तो बैंक इसके बदले कुछ ब्याज भी लेता है जो सभी बैंक का अलग अलग होता है। overdraft meaning in hindi

Axis बैंक से बिज़नेस लोन कैसे ले सभी जानकारिया Axis Bank Business Loan Hindi

Types of Overdraft Account

ओवरड्राफ्ट अकाउंट 5 प्रकार का होता है आइये जानते है:-

घर के लिए ओवरड्राफ्ट

इसमें कस्टमर को घर के लिए ओवरड्राफ्ट अकाउंट दिया जाता है ये ऐसे कस्टमर को दिया जाता है जो अपने मौजूदा होम लोन चुकाने के लिए फाइनेंस की तलाश में हैं सिक्योरिटी के रूप में घर को मंजूरी देने से पहले, संपत्ति का मूल्यांकन और सर्वेक्षण किया जाता है मंज़ूर ओवरड्राफ्ट राशि सामान्यतः संपत्ति के मूल्य का 50% या 60% तक होती है सिक्योरिटी के रूप में, घर के लिए ओवरड्राफ्ट आवेदन के मूल्यांकन के दौरान आपके क्रेडिट स्कोर और भुगतान क्षमता पर भी विचार किया जाता है।

 फिक्स डिपॉज़िट( FD) के लिए ओवरड्राफ्ट

अपने घर के लिए ओवरड्राफ्ट प्राप्त करने की तुलना में, जीवन बीमा पॉलिसी और फिक्स डिपॉजिट( FD) के बदले ओवरड्राफ्ट (Overdraft Against FD) लेना आसान है। इसका एक कारण यह है कि संपत्ति मूल्यांकन में समय लगता है, जबकि FD का मूल्य निर्धारित होता है। इसलिए, FD के लिए ओवरड्राफ्ट, लोन देने वाले बैंक के लिए भी ये अधिक आसान होता है। आपको FD मूल्य के 75% के बराबर ओवरड्राफ्ट मिल सकता है। यदि आप FD को सिक्योरिटी के रूप में रखते हैं तो ब्याज दर भी कम रहती है। यदि आप FD को सिक्योरिटी के रूप में रखते हैं, तो आमतौर पर बैंक ओवरड्राफ्ट देने के लिए FD से प्राप्त ब्याज से 2% अधिक ब्याज लेते हैं।

8 प्रकार के बिज़नेस लोन शुरू करे अपना बिज़नेस Types of Loans in India in Hindi

बीमा पॉलिसी के लिए ओवरड्राफ्ट

यदि आप अपनी बीमा पॉलिसी को अपने ओवरड्राफ्ट (Overdraft against Insurance Policy) सिक्योरिटी के रूप में रखते हैं, तो स्वीकृत राशि आपकी बीमा पॉलिसी के मूल्य पर निर्भर करती है। बीमा पॉलिसी पर लोन का LTV रेश्यो फिक्स डिपॉजिट( FD) से अधिक होता है, अर्थात अपनी FD रखने के बजाय, यदि आप समान मूल्य की अपनी बीमा पॉलिसी को सिक्योरिटी के रूप में रखते हैं, तो आपको बैंक से अधिक लोन प्राप्त हो सकता है।

 इक्विटी/ शेयर के लिए ओवरड्राफ्ट

ओवरड्राफ्ट (Overdraft) के बदले सिक्योरिटी के रूप में इक्विटी/ शेयर को बैंक नहीं लेना चाहते हैं। हालांकि इसके माध्यम से ओवरड्राफ्ट सुविधा प्राप्त करना संभव है। इसका कारण यह है कि इक्विटी बाज़ार पर निर्भर है और इस प्रकार उसका मूल्य अस्थिर रहता है। इसलिए अगर बैंक इक्विटी के बदले ओवरड्राफ्ट देता भी है उसका उसका मूल्य कम होगा।

नया बिजनेस शुरू करने के लिए सरकारी लोन 2022 How to get New Business Loan Hindi

सैलरी अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट

बैंक आपकी सैलरी अकाउंट के बदले भी ओवरड्राफ्ट (Overdraft) प्रदान करते हैं। आप, आमतौर पर, अपनी सैलरी का 2 से 3 गुना ओवरड्राफ्ट प्राप्त कर सकते हैं। इस तरह के ओवरड्राफ्ट का लाभ उठाने के लिए, आपका सैलरी अकांउट उस बैंक में होना चाहिए जिससे आप ओवरड्राफ्ट लेना चाहते हैं। इस तरह की सुविधा को शार्ट-टर्म लोन भी कहा जाता है।

ओवरड्राफ्ट अकांउट कैसे काम करता है?

जैसा की हमने आपको बताया ओवरड्राफ्ट का मतलब की आप अपने जरूरत के हिसाब से इस अकाउंट से पैसा प्रयोग कर सकते है लेकिन उस पर ब्याज भी देना पड़ता है आप जब मर्ज़ी निकाले गए पैसे को वापिस अकाउंट में जमा कर सकते है उसके बाद ब्याज लगना भी बंद हो जाएगा। उधार लिये जाने के समय से लेकर जब तक आप बकाया राशि का भुगतान नहीं करते, तब तक बैंक द्वारा आपसे ब्याज लिया जाएगा।

बैंक की ओवरड्राफ्ट (Overdraft) सुविधा का लाभ उठाना, बैंकों से लोन प्राप्त करने के समान है। सिक्योरिटी/ गारंटी के बिना ओवरड्राफ्ट सुविधा प्रदान की जाती है। हालाँकि, आप बैंक में किसी तरह की सिक्योरिटी/ संपत्ति गिरवी रखकर भी ओवरड्राफ्ट ले सकते हैं, वो सिक्योर्ड-ओवरड्राफ्ट होता है। यदि आप अपने ओवरड्राफ्ट का भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो लोन देने वाले (बैंक या NBFC) आपकी संपत्तियों को बेच सकता है ताकि वह लोन को, जितना हो सके, वसूल करें। यदि संपत्तियों के माध्यम से वसूली गयी धन राशि, ओवरड्राफ्ट  अकाउंट से निकाली गई धन राशि से कम है तो आप बकाया राशि का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी होंगे।

SBI बिज़नेस लोन कैसे ले सभी जानकारिया SBI Business Loan Hindi

ओवरड्राफ्ट राशि पर ब्याज की कैलकुलेशन (Interest Calculation on Overdraft) प्रतिदिन की जाती है क्योंकि पैसे के भुगतान के लिए कोई निर्धारित समय नहीं होता है। आपके बैंक अकांउट में धन जमा करने से आपकी बकाया राशि कम हो जाती है। ओवरड्राफ्ट में, आप निकाली गई राशि का भुगतान एक बार में भी कर सकते हैं और कुछ हिस्सों में भी उसका भुगतान कर सकते हैं। भुगतान के बाद अगर आपको फिर से पैसे की आवश्यकता होती है तो आप दोबारा पैसे निकाल सकते हैं।

Overdraft Account QNA

प्रश्न.कौन सा बैंक ओवरड्राफ्ट सुविधा प्रदान करता है?
उत्तर: भारत में लगभग हर सार्वजनिक या निजी क्षेत्र के बैंक अपने ग्राहकों को ओवरड्राफ्ट सुविधा प्रदान करते हैं। हालांकि, बैंकों द्वारा निर्धारित न्यूनतम और अधिकतम लोन राशि, ब्याज दर और अवधि भिन्न हो सकती है और आवेदक की प्रोफाइल, फाइनेंशियल हिस्ट्री और क्षमता पर निर्भर करेगी।

प्रश्न.क्या मैं ओवरड्राफ्ट से पैसे निकाल सकता हूं?
उत्तर: हां, ओवरड्राफ्ट एक क्रेडिट सुविधा है जो ग्राहकों को कुल लिमिट से भागों में पैसे का उपयोग करने की अनुमति देता है।

प्रश्न.अगर मैं अपने ओवरड्राफ्ट का भुगतान नहीं करता हूँ तो क्या होगा?
उत्तर: यदि आप बकाया ओवरड्राफ्ट राशि का भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो बैंक को आपकी मौजूदा बचत या चालू खाते से शेष राशि निकालने का अधिकार है।

प्रश्न. ओवरड्राफ्ट कौन ऑफर कर सकता है?
उत्तर: अधिकांश बैंक/ लोन संस्थानों द्वारा ओवरड्राफ्ट ऑफर किए जा सकते हैं और कुछ मुख्य बैंकों में एसबीआई, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, पंजाब नेशनल बैंक आदि शामिल हैं।

प्रश्न.ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ कौन उठा सकता है?
उत्तर:
 सुरक्षित या असुरक्षित आधार पर ग्राहक द्वारा ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है। ओवरड्राफ्ट सुविधा के मामले में ग्राहक व्यक्ति, स्व-नियोजित पेशेवर, उद्यम आदि हो सकते हैं। यदि यह एक नौकरीपेशा का ओवरड्राफ्ट है, तो इसका उपयोग व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए नहीं किया जा सकता है और केवल नौकरीपेशा कर्मचारियों द्वारा इसका लाभ उठाया जा सकता है।

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो शेयर जरूर करे या अन्य प्रशन आप कमेंट में पूछ सकते है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular