किसी भी Shares का Fundamental Analysis कैसे करे

Published by Ankit Kashyap on

fundamental analysis in hindi

Fundamental Analysis in Hindi– किसी भी कंपनी का शेयर्स का मौलिक विश्लेषण (Stock Fundamental Analysis) उसके भविष्य में होने वाली गतिविधिओ को तय करता है और बताता है की कंपनी अपने काम से किस मुकाम पर है कंपनी कितनी मजबूत है।

आज हम आपको बताते है की किसी भी स्टॉक का मौलिक विश्लेषण (Fundamental Analysis in Hindi) किस प्रकार से किया जाता है इसके बारे में पूरी जानकारी के साथ सीखेगे ताकि हम भविष्य में किसी भी Fundamental Analysis of Stock आसानी से कर सके।

कोई भी इन्वेस्टर जब किसी कंपनी के शेयर खरीदता है तो वह उस कंपनी से यही उम्मीद करता है की ये कंपनी आने वाले कुछ सालों के अंदर एक अच्छा Profit कमा कर दे शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी पर संपूर्ण रिसर्च करनी होती है और ये रिसर्च किस प्रकार की जाती है इसकी पूरी जानकारी आप इस लेख के जरिये पढ़ सकते है।

Stock Market vs Mutual Fund कौनसा है Best पूरी जानकारी

Fundamental Analysis क्या होता है?

What is fundamental analysis explain?

Share Market में Investment करने के लिए जिस प्रकार हम अपने अच्छे शेयर को ढूढ़ते है उस शेयर्स को ढूढ़ने की प्रकिया को Fundamental Analysis कहते है।

ज्यादा रिटर्न्स कमाने के लिए निवेशक शेयर मार्किट में निवेश करते है और वो वही शेयर को खरीदते है जिनकी भविष्य में कीमतों में तेजी की उम्मीद होती है।

Fundamental Analysis किसी भी शेयर को खरीदने से पहले किया जाता है ताकि किसी भी शेयर की स्थिति को समझ सके की कंपनी अपने काम से किस मुकाम पर है कंपनी कितनी मजबूत है और भविष्य में कितनी तरक्की करने वाली है।

इन सभी बातो की जानकारी हमे कंपनी के मौलिक विश्लेषण (Fundamental Analysis) करने से मिलती है।

2021से स्टॉक मार्किट में निवेश कैसे करें-How To Invest in Share Market

मौलिक विश्लेषण क्यों करना चाहिए?

जैसा की हम सबको पता है की शेयर्स मार्किट में Risk बहुत ज्यादा होता है और उस रिस्क से बचने के लिए शेयर मार्किट में निवेशों दुवारा मौलिक विश्लेषण (Fundamental Analysis) किया जाता है।

शेयर मार्किट में कभी भी शेयर को उसके कीमत के हिसाब से नहीं खरीदना चाहिए क्योकि हर शेयर्स की कीमत हर दिन कभी बढ़ जाती है कभी घट जाती है लेकिन शेयर का मौलिक विश्लेषण ही उसके बारे में सही जानकारी देता है।

जिसके कारण शेयर मार्किट ने निवेश करने से पहले मौलिक विश्लेषण करना जरूरी है।

13 ऐसे टिप्स जो बनायेगे आपको शेयर मार्किट में Expert | Share Market Tips in Hindi 

Fundamental Analysis किस प्रकार किया जाता है?

मौलिक विश्लेषण करने के लिए हमको सबसे पहले एक बड़ी सी कंपनी चुननी होती है जिसका Market-Cap काफी बड़ा हो मतलब उस कंपनी की कीमत ज्यादा हो।

उसके बाद कंपनी का मौलिक विश्लेषण दो प्रकार से किया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस और फंडामेंटल एनालिसिस

Technical Analysis क्या होता है?

टेक्निकल एनालिसिस कंपनी के बाहरी साधनो से किया जा सकता है की कंपनी देखने में कैसी है मगर आपको टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद शेयर नहीं खरीदे है टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद आपको फंडामेंटल एनालिसिस करने बहुत जरूरी होते है।

How To Do Technical Analysis

1. Company के चार्ट (Chart) का उपयोग करना जिससे कंपनी के Share Price Movement के बारे में पता चलता है कंपनी की तरक्की भी उसका Share Market Graph (Chart) ही दर्शाता है।

2. Chart-Pattern को समझना की कंपनी का शेयर किस प्रकार निचे आता है और किस प्रकार ऊपर जाता है Chart-Pattern का Technical Analysis में काफी बड़ा रोल होता है।

3. Price-Range का Technical Analysis में भी काफी बड़ा रोल होता है इसलिए टेक्निकल एनालिसिस में आपको शेयर के मूलय का भी विश्लेषण करना चाहिए।

4. इतिहास (Past) किसी कंपनी का इतिहास देखना की वो पीछे से कैसे परफॉर्म करती आ रही ये भी काफी जरूरी होता है।

Bombay Oxygen Shares में निवेश करे या नहीं-Case Study

Fundamental Analysis क्या होता है?

फंडामेंटल विश्लेषण का उपयोग हमेशा Long Time Frame में किया जाता है इसमें जल्दी पैसा कमाने का टारगेट नहीं रखा जाता है बल्कि अपने Portfolio को एक सही Rate of Return पर Compounding करने पर ध्यान दिया जाता है। 

फंडामेंटल एनालिसिस करने के लिए कंपनी के अन्दर की चीज़ो को परखा जाता है की कंपनी किस प्रकार का बिज़नेस करती है कंपनी की फाइनेंसियल स्टेटमेंट क्या है कंपनी से जुड़े लोग कौन कौन से है, उन लोगो कि PERSONAL BUSINESS EXPERIENCE और BACKGROUND क्या है इन सब की जानकारी हमे फंडामेंटल एनालिसिस दुवारा मिलती है।

निफ्टी और सेंसेक्स क्या है और ये कैसे काम करता है पूरी जानकारी

How To Do Fundamental Analysis 

Fundamental Analysis करने के लिए हमे कंपनी के डाक्यूमेंट्स (Documents) की जांच करनी होती है जैसे:-

Fundamental Analysis Kaise Kare 

1. Balance Sheet पर नज़र डालना
2. P&L (Profit &Loss) Account पर नज़र डालना
3. Cash Flow Statements को चेक करना
4. Annual Report को देखना
5. Financial Ratio को देखना
6. PE Ratio नज़र डालना
7. EPS Earning Per Share नज़र डालना
8. Book Value को चेक करना
9. Management Analysis नज़र डालना
10. Profit And Sales Growth को देखना
11. Opponent Company की जांच करना
12. जिस क्षेत्र की कंपनी है उस क्षेत्र के नियम और कानून (Law and Rules)

इस तरह हम फंडामेंटल एनालिसिस में हम ये चेक करते है कि – हम जिस कंपनी का स्टॉक खरीदना चाहते है, वह कंपनी आर्थिक रूप से कितना STRONG है, और वो कंपनी फ्यूचर में कितना ग्रोथ कर सकती है।

मौलिक विश्लेषण (Fundamental Analysis) के फायदे

Benefits of Fundamental Analysis in Hindi, What is fundamental analysis and its objectives?

  • Risk कम हो जाता है।
  • Profit की उम्मीद ज्यादा होती है।
  • Company की स्थिति पता चलती है।
  • Company के प्रोडक्ट के बारे में पता चलता है।
  • Loss-Profit के बारे में पता चलता है।
  • Stock Market Experience बढ़ता है।

फंडामेंटल एनालिसिस इस बात पर आधारित है कि – अगर कंपनी लाभ कमाती है, तो उस कंपनी के शेयर के भाव निश्चित रूप से बढ़ेंगे, और इसलिए फंडामेंटल एनालिसिस में कंपनी के फाइनेंसियल स्टेटमेंट की जांच की जाती है।

What are the Tools of Fundamental Analysis?

Top 10 Best Tools of Fundamental Analysis?

  • Zerodha Demat Account
  • Upstox Demat Account
  • Angel Broking Demat Account
  • India Infoline (IIFL) Demat Account
  • Sharekhan Demat Account
  • Motilal Oswal Demat Account
  • ICICI Direct Demat Account
  • HDFC Securities Demat Account
  • Kotak Securities Demat Account
  • Groww Demat Account

हम उम्मीद करते है आपको Fundamental Analysis in Hindi से जुडी जानकारी पसद आयी होगी धन्यवाद्।

Search For- fundamental analysis of stocks, analysis meaning in hindi, fundamental meaning in hindi, fundamental analysis, fundamental analysis of stock, how to do fundamental analysis, fundamental analysis step-by-step example, fundamentally meaning in hindi, analyst meaning in hindi, kashyapTred.


6 Comments

Ghanshyam manikpuri · June 8, 2021 at 7:07 am

आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है, बहुत अच्छे तरीके से हर बात को समझाया है।

आपकी हरेक बात आसानी से समझ में आ गई है।

afrin ansari · July 22, 2021 at 1:19 pm

aapki post ne hume bahot knowledge diya hai. thank you!

    Ankit Kashyap · July 22, 2021 at 4:32 pm

    Thanks Please Share

      Bhagirath Ram VISHNOI · September 12, 2021 at 11:15 am

      बहुत ही अच्छी जानकारी दी धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *