HomeBUSINESS IDEA'sसरकारी जेनेरिक मेडिसिन स्टोर कैसे खोलें? Generic Medical Store Hindi

सरकारी जेनेरिक मेडिसिन स्टोर कैसे खोलें? Generic Medical Store Hindi

How to open generic medicine store Hindi, How to open Generic medicine Store in Hindi, Pradhan Mantri Medical Shop Hindi, जेनेरिक मेडिसिन, जेनेरिक दवा, generic medicine in hindi, जन औषधि केंद्र कैसे खोलें.

How to open a generic medical store in india hindi- आज के समय में कभी न कभी कोई भी व्यक्ति बीमार हो जाता है और उसे डॉक्टर की जरूरत पड़ती है और जो डॉक्टर दवाई लिखता है तो वो दवाई लेने के लिए हमको मेडिकल स्टोर पर जाना पड़ता है बीमारियों को देखते हुए लगातार मेडिकल स्टोर की लगातार मांग बढ़ रही है आज के समय में भी लोग जेनेरिक दवाइया लेना पसद करते है आज के समय में 50% से भी ज्यादा लोग जेनेरिक दवाइया अपने स्वस्थ्य को ठीक करने के लिए खरीदते है तो जेनेरिक दवाइया से जुडी पूरी जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी की आप एक सरकारी जेनेरिक मेडिसिन स्टोर कैसे शुरू कर सकते है जेनेरिक मेडिसिन स्टोर शुरू करने के लिए सरकार भी आपकी मदद करती है जिसकी पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिलेगी। generic medical shop

Open Generic Medical Store- दोस्तों क्या आपको इसके बारे में पता है की हमारे भारत की Indian Healthcare Industry आज के समय में 200 बिलियन अमेरिकी डॉलर से भी ज्यादा की है और 2025 तक ये इंडस्ट्री दोगुनी हो जायगी मतलब 400 बिलियन अमेरिकी डॉलर से भी ज्यादा हो जायगी और भारत में ये इंडस्ट्री लगातार विकास की और जा रही है अगर आप भी इस विकास के साथ जुड़कर बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो इसी से जुड़े एक ऐसा बिज़नेस हम आपको बतायेगे जो इस इंडस्ट्री का सबसे बड़ा बिज़नेस माना जाता है अगर आप भी भारत में Indian Healthcare Industry से जुड़कर काम करना चाहते है तो इस आर्टिकल में हमारे साथ अंत तक बने रहिये तभी आपको समज आएगा। generic medicine store

जेनेरिक दवाइया क्या होती है?

जेनेरिक दवाइयों का मतलब होता है देसी दवाइया इनका असर भी ब्रांडेड दवाइयों जैसा ही होता है केवल इनमे फर्क इतना होता है की जेनेरिक दवाइया को बेचने की इज़ाज़त तभी मिलती है जब ब्रांडेड दवाइया का Patent Period ख़तम हो जाता है ब्रांडेड दवाइया महगी होती है और जेनेरिक दवाइया ब्रांडेड दवाइयों के मुकाबले 80% तक सस्ती मिलती है और धीरे धीरे जेनेरिक दवाइयों की डिमांड तेजी से बढ़ रही है क्योकि ये दवाइया सस्ती भी होती है और इनका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं होता है इसमें 800 प्रकार की दवाइया होती है और 154 सर्जिकल आइटम उपलब्ध है।

भारत में अभी तक 8000 से भी ज्यादा जन औषधि केंद्र जहा पर जरूरतमदो को दवाइया उपलब्ध करवाई जाती है यह अकड़ा तेजी से बढ़ रहा है अगर आप भी जेनेरिक मेडिसिन स्टोर खोलना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए।

Tata 1MG Franchise कैसे शुरू करे Tata 1MG Franchise in Hindi

Generic Medical Store क्या होता है?

जिस प्रकार ब्रांडेड दवाइयों के स्टोर को मेडिकल स्टोर कहा जाता है उसी प्रकार जेनेरिक दवाइया के स्टोर को Generic Medical Store कहा जाता है ये दवाइया बिना किसी ब्रांड की होती है इनको हम देसी दवाइया भी बोल सकते है Generic Medical Store एक सरकार दुवारा खुलवाया जाता है क्योकि सरकार इसे खोलने के लिए आपकी मदद करती है ये जेनेरिक दवाइया ब्रांडेड दवाइयों के मुकाबले 80% तक सस्ती मिलती है और इस असर ब्रांडेड दवाइयों के जितना ही होता है।

Dr Lal Pathlabs Franchise कैसे ले- Dr Lal Pathlabs Franchise Hindi

Generic Medical Store खोलने के फायदे

पिछले कुछ सालो में जेनेरिक दवाइयों का चलन काफी ज़ोरो से बढ़ा है ऐसे में इसके बहुत ज्यादा फायदे है अगर आप एक Generic Medical Store शुरू करते है जैसे:-

  • जेनरिक दवाइया आपको बहुत सस्ते दामों में मिलती है।
  • लोग जेनेरिक दवाइयों के प्रति जागरूक है।
  • स्टोर खोले के लिए सरकार आपकी मदद करती है।
  • यह एक भारत सरकार की परियोजना है।
  • आपको जेनेरिक दवाइयों को बेचने पर 20% तक का मार्जिन मिलता है?
  • जेनेरिक दवाइयों बेचने पर 15% तक का इन्सेंटिव मिलता है।
  • जेनेरिक दवाइयों के साथ साथ आप अपने स्टोर पर ब्रांडेड दवाइया भी बेच सकते है।

Suraksha Diagnostic फ्रैंचाइज़ी कैसे ले Suraksha Diagnostic Franchise Hindi

Generic Medical Store खोलने के जरूरी दस्तावेज

Generic Medical Store Eligibility or Requirement Hindi-

  • आपके पास 120 स्क्वैयर फीट एरिया में दुकान होनी जरूरी है।
  • किसी हॉस्पिटल या क्लिनिक या किसी रोड के किनारे आपका स्टोर होना चाहिए।
  • रिटेल ड्रैग लाइसेंस आपके पास होना चाहिए।
  • ड्रैग लाइसेंस Pardhan Mantri Janaushadhi Kendra के नाम पर होना चाहिए।
  • हेल्पर की जरूरत होती है।
  • बैंक में किसी प्रकार का लोन नहीं होना चाहिए।

Generic Medical Store खोलने के जरूरी कोर्स

Generic Medical Store मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको इनमे से कोई कोर्स करना पड़ेगा।

  • D. Pharma (Diploma in Pharmacy)
  • B. Pharma (Bachelor of Pharmacy)
  • M. Pharma (Master of Pharmacy)
  • Pharma D. (Doctor of Pharmacy)

आइये इनको पूरी जानकारी के साथ जानते है ताकि आप जान सके आप इनको कैसे कर सकते है।

how to start generic medical store:-

1. D. Pharma (Diploma in Pharmacy) Course

D. Pharma (Diploma in Pharmacy) कोर्स पुरे 3 साल का होता है जो भी व्यक्ति इसको करना चाहता है तो वो अपनी 12th (Medical) पास करके इस कोर्स को कर सकता है इसके साथ आपको इसमें 3 महीने सरकारी हस्पताल में परीक्षण भी कराया जाता है ताकि आपका एक्सपीरियंस अच्छा बन सके। medical knowledge in hindi

2. B. Pharma (Bachelor of Pharmacy) Course

B. Pharma (Bachelor of Pharmacy) कोर्स पुरे 2 साल का होता है जो भी व्यक्ति इसको करना चाहता है तो वो अपनी 12th (Medical) पास करके इस कोर्स को कर सकता है लेकिन इस कोर्स में उमीदवार को परीक्षा में अच्छी रैंक लानी होती है तभी आप इस कोर्स को पास कर पाएंगे।

3. M. Pharma (Master of Pharmacy) Course

Master of Pharmacy) का कोर्स आप B. Pharma Course के बाद कर सकते है और ये 2 सालो का कोर्स होता है इसमें आप तभी एडमिशन में सकते है जब आपके B. Pharma Course में 50% मार्क्स से ज्यादा नंबर ला सकते है इस कोर्स को करने के बाद आप Store Line के मास्टर कहलाते है।

4. Pharma D. (Doctor of Pharmacy) Course

M. Pharma (Master of Pharmacy) का कोर्स पुरे 6 साल का होता है जो भी व्यक्ति इसको करना चाहता है जो व्यक्ति बड़े लेवल पर अपना मेडिकल स्टोर चलना चाहता है तो वो इस कोर्स को कर सकता है इस कोर्स को करने के बाद आप प्रथम श्रेणी के भागीदार बन जाते है ये कोर्स भी आप 12th (Medical) पास करके इस कोर्स को कर सकते है।

Apollo Diagnostics Franchise कैसे ले Apollo Diagnostics Franchise Hindi

मेडिकल स्टोर का लाइसेंस कैसे बनता है?

दवा दुकान का लाइसेंस कैसे बनाये? Medical shop licence

मेडिकल लाइसेंस कैसे बनाये?-अपना कोर्स पूरा करने के बाद आपको अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होता है लेकिन जो अंतिम कार्य है वो है लाइसेंस बनवाने के लिए आपको State Drugs Standard Control Organization से संपर्क करना पड़ेगा वह से आप अपना Medical Store License बनवा सकते है इसको बनवाने में करीब 3 हज़ार का खर्चा आता है। (Medical shop licence) (Medical shop licence cost)

State Drugs Standard Control Organization– 2 तरह के लाइसेंस उपलब्ध करवाता है।

  • Retail Drugs License- अगर आप छोटे लेवल पर काम करना चाहते है
  • Wholesale Drugs License -अगर आप बड़े लेवल पर काम करना चाहते है

जेनेरिक स्टोर खोलने की लागत

सभी खरचो को मिलाकर आपको इनमे 5 लाख तक का निवेश करना पड़ सकता है अगर आप जहा काम करने वाले है और वो ज़मीन आपकी है तो वह से आप अपना निवेश बचा सकते है लेकिन आपकी अपनी ज़मीन नहीं है तो आपको उसके लिए निवेश करना पड़ेगा और चाहे तो आप उसको किराय पर भी ले सकते है अगर आप ये काम बड़े लेवल पर करना चाहते है तो आपको 10 लाख तक का निवेश करना पड़ेगा।

Shop Setup Expence- 1,50,000

Stock Expence- 1,00,000

Computer and Wifi Expence- 50,000

Other Expence – 25,000

ये सारा खर्चा आपका होगा लेकिन अगर आपके पास अपनी ज़मीन नहीं है तो आपको उसके लिए ज्यादा निवेश की जरूरत पड़ सकती है।

Medical Store कैसे खोले पूरा Process 2021 Medical Store Hindi

जेनेरिक स्टोर खोलने के लिए सरकार करती है मदद

केंद्र सरकार (Central Government) की जन औषधि योजना (Jan Aushadhi Yojna) के तहत आप जेनेरिक मेडिकल स्टोर (Generic Medical Store) खोल सकते हैं. इसके लिए सरकार आपको 2.5 लाख रुपये की मदद भी देगी।

स्टोर शुरू करने के लिए सरकार आपकी 2.5 लाख तक की मदद करती है आगे का सारा निवेश आपको खुद करना पड़ता है।

जेनेरिक मेडिकल स्टोर शुरू करने में 2.50 लाख रुपये का ही खर्च आता है और इस तरह से पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है सरकार ने जेनेरिक मेडिकल स्टोर शुरू करने के लिए तीन तरह की कैटेगरी बनाई है।

>> पहली कैटेगरी के तहत काई भी व्यक्ति, बेरेागार फार्मासिस्ट, डॉक्टर या रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशन स्टोर शुरू कर सकता है।

>> दूसरी कैटेगरी के तहत ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी सेल्फ हेल्प ग्रुप को अवसर मिलेगा।

>> तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों की तरफ से नॉमिनेट की गई एजेंसीज होंगी।

जेनेरिक स्टोर से कमाई?

जेनेरिक मेडिकल स्टोर के जरिए महीने में जितनी दवाइयों की बिक्री होगी, उसका 20 फीसदी कमीशन के रूप में मिलेगा. इस लिहजा से अगर आपने महीने में 1 लाख रुपये की भी बिक्री की तो उस महीने में आपको 20 हजार रुपये की कमाई हो जाएगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की जेनेरिक दवाइयों की मार्किट में बहुत डिमांड है बहुत से मेडिकल स्टोर अपने स्टोर पर इनका बिज़नेस करते है आप अपना खुद का स्टोर शुरू करके अच्छे पैसे बना सकते है।

जनरल या किराना स्टोर खोलने का पूरा Process Hindi 2021

जेनरिक और एथिकल दवा में क्या अंतर है?

वैसे तो इनमे किसी भी प्रकार का फर्क नहीं होता है केवल मार्केटिंग और ब्रांडिंग का फर्क होता है ये बनाई भी एक ही तरीके से जाती है एथिकल दवा की कीमत ज्यादा होता है क्योकि इसकी मार्केटिंग, ब्रांडिंग, रिसर्च पर खर्चा आता है इसलिए इनको मार्किट में ज्यादा भाव में बेचा जाता है इन दोनों का बनाने का तरीका एक होता है और इनसे बॉडी में आराम भी एक ही प्रकार से मिलता है।

जेनेरिक दवा की पहचान क्या है?

जेनेरिक दवा एक ब्रांडेड दवा के सामान ही होती है इनका बॉडी में आराम भी सामान होता है नए नियमो के अनुसार दवा कंपनियों के लेवल पर जेनेरिक दवा का नाम बड़े अक्षरों में लिखा होता है और ब्रांडेड दवाइयों का नाम छोटे अक्षरों में लिखा होता है और दोनों में ब्रांडिंग और मार्केटिंग का भी फर्क से हम जेनेरिक दवाइयों की पहचान कर सकते है।

13 Advance Tips&Trick बिज़नेस को सफल बनाने के लिए Business Tips and Tricks

जेनेरिक स्टोर के लिए अप्लाई कैसे करे?

how to open generic medical store Hindi:-

>जेनेरिक स्टोर खोलने के लिए आपको सरकार दुवारा बनाई गयी वेबसाइट http://janaushadhi.gov.in/ पर जाना होगा।
> होम पेज पर ही आपको ऑप्शन मिलेगा Apply For PMBJK पर क्लिक करना है।
> यहाँ आपको स्टोर से जुडी सभी जानकारिया मिलेगी।
> यहाँ आपको अप्लाई ऑनलाइन और फॉर्म भरना है।
> फॉर्म भरने के बाद आपको फॉर्म को सबमिट करना है।

जब आप फॉर्म को सबमिट कर देते है तो वो फॉर्म सरकार के पास चला जाता है जिससे सरकारी अधिकारी आपके दिए हुए पते और मोबाइल नंबर से आपको कांटेक्ट करते है।

अगर आपको Generic Medical Store Hindi से जुडी जानकारी से कुछ सिखने को मिला तो शेयर जरूर करे धन्यवाद्।

RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

  1. बृजमोहन पांडे हम अपना जर्नल स्टोर खुलवाना चाहते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular