Gst Full Form GST कैसे काम करता है और कितने प्रकार का होता है

Published by Ankit Kashyap on

Gst

आज हम आपको बतायेगे की Gst क्या होता है। Gst Full Form, Types of Gst और जीएसटी कैसे काम करता है। इस आर्टिकल में हम आपको जीएसटी से जुडी पूरी जानकारी देंगे अगर आप इस आर्टिकल को पूरा ध्यानपूर्वक पढ़ते है तो शायद ही इसके बाद आपको जीएसटी के बारे में कही और Research करने की जररुत पड़ेगी। और जीएसटी के बारे में जानना भी काफी आवश्यक है क्योकि भविष्य में आपको इसकी काफी जरुरत पड़ सकती है।

Gst Full Form क्या है

अपने कभी न कभी जीएसटी का नाम सुना ही होगा और अब तो ये काफी सामान्य हो गया है हर व्यक्ति इसके बारे में जानना चाहता है तो Gst Full Form is Goods and Services Tax होता है। अगर हम बात करे हिंदी में इसका मतलब होता है ‘वस्तु व सेवा कर’ जो भारत में टैक्स के रूप में काम करता है।

जीएसटी क्या है What is Gst Full Form

जीएसटी एक ‘वस्तु व सेवा कर’ टैक्स है जो भारत सरकार दुवारा मुख्या रूप से किसी वस्तु और उत्पादकों की बिक्री पर लगाने वाला एक टैक्स है जो भारत में (Gst Releasing Date) 1 July 2017 को शुरू किया गया था। यह किसी वस्तु और उत्पादकों की बिक्री पर लगाया जाता है लेकिन शराब की बिक्री और पेट्रोल डीज़ल पर इसे नहीं लगाया जायगा।

Business Kaise Start Kare कम खर्च में बिज़नेस कैसे शुरू करे 2021-22

जीएसटी कितने प्रकार का होता है Types of Gst

जब हम किसी बिक्री पर जीएसटी लगाते है तो वो तीन प्रकार का होता है।

1. राज्य स्तरीय जीएसटी (SGST- State Goods and Services Tax) SGST Full Form

2. केंद्रीय स्तरीय जीएसटी (CGST- Central Goods and Services Tax) CGST Full Form

3. इंटीग्रेटेड स्तरीय जीएसटी (IGST- Integrated Goods and Services Tax) IGST Full Form

जीएसटी कैसे काम करता है

  1. राज्य स्तरीय जीएसटी (SGST- State Goods and Services Tax)

किसी राज्य दुवारा जब किसी प्रकार का जीएसटी लागु किया जाता है तो उसे राज्य स्तरीय जीएसटी कहते है जब एक ही राज्य में Sale-Purchase की जाती है तो यह टैक्स लगाया जाता है।

2. केंद्रीय स्तरीय जीएसटी (CGST- Central Goods and Services Tax)

जब केंद्र सरकार दुवारा किसी प्रकार का जीएसटी लागु किया जाता है तो उसे केंद्रीय स्तरीय जीएसटी बोलते है यह भी जब एक ही राज्य में Sale-Purchase की जाती है तो यह टैक्स लगाया जाता है।

3. इंटीग्रेटेड स्तरीय जीएसटी (IGST- Integrated Goods and Services Tax)

यह भी जब केंद्र सरकार दुवारा किसी प्रकार का जीएसटी लागु किया जाता है तो उसे इंटीग्रेटेड स्तरीय जीएसटी बोलते है यह जब किसी एक राज्य से दूसरे राज्य में Sale-Purchase की जाती है तो यह टैक्स लगाया जाता है।

Gst Kaise lagaya Jata hai

जब एक राज्य में Sale-Purchase होती है तो SGST+CGST लगाया जाता है क्योकि इसका आधा टैक्स राज्य सरकार के पास जाता है और आधा टैक्स केंद्र सरकार के पास जाता है जिनके टैक्स अलग अलग प्रकार के होते है।

जब किसी एक राज्य से दूसरे राजय में Sale-Purchase की जाती है तो IGST टैक्स लगाया जाता है और इसका सारा टैक्स केंद्र सरकार के पास जाता है।

Gst Calculation kaise kare

Gst कैलकुलेशन करना बहुत आसान है हम आपको बिलकुल सही तरीके से समजाते है की जीएसटी कैलकुलेशन किस प्रकार की जाती है।

जब भी किसी एक राज्य में Sale-Purchase की है तो Gst टैक्स इस प्रकार कैलक्यूशन होगा।

अगर कोई बिल 100,000 का है और उसपर Gst टैक्स 18% है तो उसमे Gst कैलकुलेशन ऐसे होगा। 

100000×100/118= 84745.76 Taxable Value 15254 Tax(7627.11 CGST Tax or 7627.11 SGST Tax) Both Half

जब भी किसी एक राज्य से दूसरे राज्य में Sale-Purchase की है तो Gst टैक्स इस प्रकार कैलक्यूशन होगा

100000×100/118= 84745.76 Taxable Value 15254 IGST Tax


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial