HomeFarming Ideasआर्गेनिक फार्मिंग करने के तरीके, ऐसे करे खेती कमाई लाखो में How...

आर्गेनिक फार्मिंग करने के तरीके, ऐसे करे खेती कमाई लाखो में How to Start Organic Farming in Hindi

organic farming in india in hindi, How to Start Organic Farming in Hindi, what is organic farming in hindi, organic kheti kheti kaise karen, organic farming meaning in hindi, how to start organic farming in india.

हमारे भारत में खेती बहोत बड़े पैमाने में होती है। इसका अंदाजा आप इससे लगा सकते है की भारत की GDP (Gross domestic product) में फार्मिंग का बहोत बड़ा योगदान है। भारत में आज भी बहुत से लोग रासायनिक खेती करते है। रासायनिक खेती में आपको कम लागत में ज्यादा मुनाफा होता है। पर रासायनिक खेती Organic Farming in Hindi की सबसे बड़ी समस्या ये है की ये सेहत के लिए काफी हानिकारक होती है। 

How to start organic farming in india- आर्गेनिक फार्मिंग इसी वजह से आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है की कैसे आप जैविक खेती शुरू कर सकते है। जैविक खेती में आप खेती करने के लिए नैचरल चीज़ो का इस्तेमाल करते है। जैसे की गोबर की खाद,कम्पोस्ट,गाई का गोमूत्र इन सब चीज़ों का इस्तेमाल आप जैविक खेती में करते है। इसमें आपको ज्यादा मेहनत पर कम फसल देखने को organic farming in india in hindi मिलती है।

Organic farming in hindi language- इसमें आपको समय भी ज्यादा लगता है रासायनिक खेती के मुकाबले पर इसमें आपको अच्छी कमाई हो सकती है। इसका कारण ये है की आज सभी लोगो को जैविक खेती के सब्जियों का फायदा पता है। आज के समय में लोग पैसे से ज्यादा ध्यान अपने सेहत पर देते है। इसी वजह से आप अगर जैविक खेती करते है तो आपको इससे अच्छा मुनाफा हो सकता है। तो अब हम डिटेल में जानते है जैविक खेती क्या है? और कैसे करे इसके बारेमे।  Organic Farming in Hindi

जैविक खेती क्या है? What is organic farming in hindi

what is organic farming in hindi- जैविक खेती किसे कहते हैं जैसा मैंने आपको थोड़ी समय पहले बताया की यैसे खेती जिसमे रासायनिक खातों का इस्तमाल नहीं किया जाता है। इसके अलावा हमे ये भी समझना होगा की रासायनिक खेती क्या है? और रासायनिक खेती और जैविक खेती में क्या अंतर है? रासायनिक खेती ज्यादा तर किसान करते है। इसमें केमिकल रासायन organic farming in hindi meaning उपयोग किया जाता है। जैसे कीटनाशक,हाइब्रिड बीज,फवारणी इन सब का इस्तमाल रासायनिक खेती में किया जाता है। 

बादाम की खेती, कैसे होती है, कमाई कितनी होती है Almond Farming in India Hindi

रासायनिक खेती और जैविक खेती के फायदे और नुकसान 

  • रासायनिक खेती में हाइब्रिड बीज का इस्तेमाल किया जाता है। इससे आपको खेती में फसल ज्यादा देखने को मिलती है पर उस फसल में की क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं होती है। 
  • रासायनिक खेती में आपको कम मेहनत करनी पड़ती है जैविक खेती के मुकाबले। जैविक खेती में आपको सभी चीज़े खुद बनानी पड़ती है या बाज़ार के खरीदनी पड़ती है।
  • रासायनिक खेती को आप कभी भी और कई पर भी शुरू कर सकते है। इसके अलावा जैविक खेती को ज्यादा तर उस फसल के सीजन में ही कर सकते है। 
  • रासायनिक खेती जमींन के लिए अच्छी नहीं होती है। इसके अलावा जैविक खेती जमींन को सभी तरह के पोषण देती है। जिसकी वजह से आपकी फसल अच्छी आती है। 

जैविक खेती करने का उद्देश्य

Organic farming methods in hindi- आर्गेनिक फार्मिंग का सबसे बड़ा उद्देश्य है की मिट्टी की शक्ति को नष्ट होने से बचाया जाए और हम जो खाने के लिए चीज़ो का इस्तेमाल करते है उनकी गुणवत्ता अच्छी रहे। इसके साथ जैविक नाइट्रोजन का उपयोग करना और जैविक खाद और इसके साथ कार्बनिक पदार्थ द्वारा रिसक्लिंग करना। जैविक खेती का सबसे बड़ा उद्देश्य ये है की लोगो की सेहत को अच्छा रखना किउ की रासायनिक खेती से लोगो के शरीर को कुछ भी फायदा नहीं होता है। इसके अलावा रासायनिक खेती में प्रदुषण भी काफी होता है तो इसी वजह से आज जैविक organic farming meaning in hindi खेती की लोगों को जरूरत है। 

मधुमक्खी पालन कैसे करे, शहद बनाने, खर्चा, प्रॉफिट सभी जानकारिया जाने Honey Bee Farming in Hindi

जैविक खेती के प्रकार क्या है?

ऑर्गेनिक खेती क्या है, जैविक खेती हिंदी, organic farming hindi, organic farming in hindi meaning.

  1. देसी खेती 

देसी खेती आर्गेनिक फार्मिंग का पहला प्रकार है इसमें देशी जड़ीबूटियों के साथ गाय के गोबर से बने खाद के अलावा मटका खाद और साथ में जीवामृत इनका भी उपयोग किया जाता है।  Organic Farming in Hindi

  1. कुदरती खेती 

कुदरती खेती जैसा आपको नाम से पता चल रहा होगा की यह खेती पूरी नैचरल तरीके से की जाती है। इसमें फसल  के बीज बोने के बाद फसल आने पर उसे तोड़ लिया जाता है। इसमें कुछ भी रासायनिक चीज़ो का इस्तमाल नहीं किया जाता है 

जैविक खेती कैसे करे 

अब हम बात करते है की कैसे आप जैविक खेती को कर सकते है। आर्गेनिक खेती या जैविक खेती को करने से पहले आपको इन बातो का ध्यान देना होगा।  Organic Farming in Hindi

  1. मिट्टी की जांच 

आप अगर जैविक खेती करना चाहते है तो सबसे पहले आपको अपने खेत की मिट्टी की जांच करनी होगी। जो आप किसी कृषि विज्ञान केंद्र या सरकारी एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी की प्रयोगशाला में कर सकते है। अपने खेत की मिट्टी की जांच से आपको ये पता चलता है की आपकी मिट्टी के किस चीज़ कमी है या नहीं। इससे आपको अपने खेत में कितनी मात्रा में खाद या कम्पोस्ट डालना है इसकी जानकरी देखने को मिलती है। 

  1. जैविक खाद बनाना

जैसा मैंने आपको जैविक खेती की जानकरी देते वक़्त बताया। Organic Farming में आप किसी भी प्रकार की रासायनिक खाद का इस्तमाल नहीं करते। इसी वजह से आपको इसकी खेती में खुद से खाद बनानी होती है। इसके लिए आपको जैविक खाद कैसे बनाते है और जैविक खाद बनाने में लगने वाली सामग्री की जरूरत होगी। जैविक खाद एक यैसी खाद होती है। जो पशु के मल-मूत्र से बनती है इसके लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल गाई के गोबर का किया जाता है। 

जैविक खाद बनाने की पूरी प्रक्रिया

Jaivik kheti kise kahate hain- जैविक खाद बनाने के बहुत से प्रकार है आज मैं आपको गोबर से खाद बनाने की प्रक्रिया बताने वाला हु। इसके अलावा आपको वर्मीकम्पोस्ट केंचुआ की खाद कैसे बनाते है इसके बारेमे भी पूरी जानकरी देखने को मिलेगी।  Organic Farming in Hindi

स्ट्रॉबेरी की खेती कब और कैसे करें, ऐसे होगी मोटी कमाई Strawberry Farming Hindi

गाय के गोबर से जैविक खाद कैसे बनाएं

सबसे पहले हम बात करते है गाई के गोबर से जैविक खाद बनाने के लिए लगने वाली साम्रग्री की। इसमें आपको गाय का गोबर,गोमूत्र,गुड़,मिट्टी और लकड़ी का बुरादा इन सब की आपको जरूरत होगी। गाई के गोबर की खाद बनाने के लिए आपको सबसे पहले एक प्लास्टिक का ड्रम ले। 

उसमे सब गाई का गोबर डाले इसके बाद उसमे गोमूत्र मिला ले साथ ही इस्तेमाल में न आने वाले गुड़ और लकड़ी का बुरादा को भी आप इसमें डाल सकते है। इसके बाद आपको इसका अच्छे से मिश्रण तैयर करना है। इसका मिश्रण तैयर करने के लिए आप हाथ या लकड़ी के डंडे का इस्तेमाल कर सकते है। एक बार मिश्रण अच्छे से तैयार होने के बाद आप उसे 20 दिनों तक ढक कर रख सकते है।  Organic Farming in Hindi

वर्मीकम्पोस्ट केंचुआ की खाद कैसे बनाये 

Organic Farming in Hindi – केचुए को किसान का दोस्त कहते है। केचुए की खाद बनाने के लिए आपके पास 2 से 5 किलो केंचुआ,गोबर,नीम की पत्तियां, प्लास्टिक की शीट इन सब की आवश्कता होगी। केचुए  बनाने के लिए एक लम्बा गड्डा खोदकर उसमे प्लास्टिक की शीट फैला दे। उसके बाद अपने हिसाब से गोबर,खेत की मिट्टी, नीम के पत्ते और केंचुआ मिलाकर पानी का छिड़काव करें। आपको इनफार्मेशन के लिए बता दे की 1 किलो केंचुआ 1 घंटे में 1 किलो वर्मीकम्पोस्ट बना देता है। 

इस तरह से आप गोबर की खाद और वर्मीकम्पोस्ट केंचुआ इनकी खाद बना सकते है। हाला की आपको वर्मीकम्पोस्ट केंचुआ की खाद ऑनलाइन भी मिल सकती है पर आप इसे खुद बनाना चाहते है। तो मैंने इसकी पूरी प्रोसेस आपको बता दी है आप इसे अब अपने हिसाब से बना सकते है। 

मशरूम की खेती का व्यापार कैसे करे-सरकारी सब्सिडी के साथ Mushroom Farming Business Hindi

जैविक खेती में होने वाले लाभ 

Organic Farming in Hindi – जैविक खेती के बहुत से लाभ है जैसे एक आपको जो जैविक खेती कर रहे है। दूसरा लाभ इसका उन्हें है जो जैविक खेती से उगे सब्जिओ को खाने वाले है। सबसे पहले हम बात करते है की जो लोग जैविक खेती करते है उन्हें कोनसे लाभ देखने को मिलते है। 

  • जैविक खेती में आपको महंगी रासायनिक खाद लेने की जरूरत नहीं है। इससे आपका रासायनिक खाद  का खर्च बचता है। 
  • इसके साथ ही आज मार्केट में जैविक सब्जियों की अच्छी डिमांड है। इसकी वजह से आप इसकी खेती करते है। तो आपको अच्छा फायदा मिल सकता है इसके अलावा बहुत से लोग इसकी खेती नहीं कर रहे है। तो इससे आपको अर्ली एडवांटेज भी मिलता है। 
  • जो लोग जैविक खेती के फल या सब्जियों को खाने वाले है। उन्हें ये फायदा होगा की उन्हें  क्वालिटी की सब्जिया देखने को मिलेंगी। इससे उन्हें बीमारियों का कम सामना करना होगा। 

तो दोस्तों इस तरह से आप जैविक खेती How to Start Organic Farming in Hindi कर सकते है आपको अगर मैंने दी हुई जानकरी अच्छी लगी है। तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Ankit Kashyap
Ankit Kashyap
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकित कश्यप है मै businessme.in का फाउंडर हु इस ब्लॉग के दुवारा मै अलग अलग जगह से सभी जानकारिया जुटा कर आप तक इस ब्लॉग के माध्य्म से पहुंचाता हु ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज  निवेश, फाइनेंस, स्टॉक मार्किट और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है अगर आप किसी अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करना चाहते है तो आप हमको सम्पर्क करने के लिए [email protected] और [email protected] पर सम्पर्क कर सकते है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular