HomeFarming Ideasलैवेंडर के फूलों की खेती कैसे करे, कमाई कितनी, सभी जानकारिया Lavender...

लैवेंडर के फूलों की खेती कैसे करे, कमाई कितनी, सभी जानकारिया Lavender Farming in India Hindi

Lavender Farming in India Hindi, lavender plant in hindi, lavender ka paudha, lavender flower in hindi, lavender kya hota hai.

Lavender Farming in India Hindi- लैवेंडर एक यैसा फूल है जिसकी खुशबू से मन को काफी सुकून मिलता है। लैवेंडर का इस्तेमाल बहोत सी चीज़ो में होता है। जैसे आप जो घर में परफ्यूम इस्तमाल करते है वह लैवेंडर के फूल से बनता है। इसके अलावा लैवेंडर का उपयोग साबुन बनाने में, दवाई बनाने में, अगरबत्ती इन सब चीज़ो में काफी बड़ी मात्रा में होता है। इसके साथ ही लैवेंडर के जो फूल होते है उनका भी उपयोग घर की सजावट और डेकोरेशन में होता है। 

इसी वजह से आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है। आप कैसे लैवेंडर खेती करके अच्छे पैसे कमा सकते है। आज के समय में किसान अलग अलग चीज़ो की खेती कर रहे है। इसमें बहोत से किसान आज के समय में लैवेंडर की खेती करके अच्छे पैसे कमा रहे है। लैवेंडर की खेती में आपको एक बार पौधे को लगाना होता है। इसके बाद आपको इस पौधे से आगे के 12 से 14 साल लैवेंडर के फूल देखने को मिलते है।

लैवेंडर क्या है और इसकी मार्केट डिमांड 

हम सबसे पहले ये जानते है की लैवेंडर Lavender Farming क्या है? तो दोस्तों लैवेंडर एक तरह का खुशबूदार पौधा है। लैवेंडर के फूल देखने में लाल, बैंगनी, नीले और काले इस तरह के होते है। लैवेंडर के फूलों की आज पुरे भारत में इतनी डिमांड है। इसकी डिमांड का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की सरकार आज खुद लैवेंडर की खेती को बढ़ावा दे रही है। लैवेंडर की बढ़ती डिमांड को देखते हुए केंद्र सरकार की संस्था CSIR एरोमा मिशन भी लैवेंडर की खेती को बढ़ावा दे रहे है। 

हल्दी की खेती कैसे करे, कमाई कितनी, सभी जानकारिया Turmeric Farming in Hindi

लैवेंडर की खेती कैसे करें (Lavender Farming in Hindi)

लैवेंडर की खेती Lavender Farming करने से पहले आपको अपने खेत में जो पुरानी फसल है के अवशेष है उन्हें हटा देना होगा। इसके बाद आपको खेत की अच्छी तरह से जुताई करनी होगी। इसके बाद खेत को कुछ दिन तक अच्छी धुप लगने के लिए खुला छोड़ देना चाहिए। इसके बाद पुरानी गोबर की खाद को मिट्टी में अच्छे से मिला चाहिए। अब हम बात करते है की लैवेंडर की खेती के लिए आपको कोनसी मिट्टी की जरूरत है। 

लैवेंडर की खेती के लिए जलवायु और मिट्टी

लैवेंडर के खेती Lavender Farming के लिए आपको रेतीली दोमट मिट्टी की आवश्यकता होगी। इसकी खेती के लिए मिट्टी का पीएच 5.8 और 8.3 के बीच होना चाहिए। लैवेंडर की खेती आप पहाड़ी, मैदानी और रेतीली भूमि में भी आसानी कर सकते है। इसके अलावा यह पौधा ठंडे जलवायु में अच्छा विकास करता है। 

लैवेंडर के पौधे की सबसे खास बात ये है की इसकी खेती आप सामान्य वर्षा में भी कर सकते है। लैवेंडर के पौधे के विकास के लिए 20 से 22 डिग्री तापमान की जरूरत होती है। इसके अलावा यह पौधा ज्यादा से ज्यादा 30 डिग्री तापमान तथा कम से कम 10 डिग्री तापमान को सहन कर सकता है। 

आर्गेनिक फार्मिंग करने के तरीके, ऐसे करे खेती कमाई लाखो में How to Start Organic Farming in Hindi

लैवेंडर की कितनी किस्में है?

आज लैवेंडर की पूरी दुनिया में आपको बहोत सी किस्मे देखने को मिलती है। इसमें शेर-ए-कश्मीर, मेलिसा लिलाक, काजन लुक, हेमस, ऐरामा, कारलोवो, स्वेटजैस्ट, वैनेस्ट ये सब किस्मे शामिल है। इसमें से शेर-ए-कश्मीर ये किस्म की लैवेंडर की खेती भारत में बहोत ज्यादा की जाती है। इसके बारेमे आपको और जानकरी CSIR एरोमा मिशन इनसे मिल सकती है। 

CSIR अरोमा मिशन क्या है?

केंद्र सरकार ने 2016 में जम्मू-कश्मीर में खुशबूदार फूलों की खेती के लिए इस मिशन अरोमा की शुरुवात की थी। 

इस योजना के तहद किसानों को लैवेंडर की खेती के लिए ट्रेनिंग से लेकर, पौधों की खरीद में सब्सिडी, खाद-उर्वरक और उपज की बिक्री में मदद दी जाती है। अभी तक इस योजना के तहद इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटेगरेटिरेटिव मेडिसिन द्वारा 2500 किसानें को ट्रेनिंग भी मिल चुकी है। इसी वजह से आपको भी लैवेंडर की खेती Lavender Farming के रिलेटेड कोई जानकरी चाहिए तो इनसे कांटेक्ट कर सकते है। 

बादाम की खेती, कैसे होती है, कमाई कितनी होती है Almond Farming in India Hindi

लैवेंडर की खेती करने के तरीके 

जैसा मैंने आपको बताया की लैवेंडर के पौधे को सिर्फ एक बार लगाना पड़ता है। इसके बाद आपको 12 से 14 साल सिर्फ लैवेंडर के पौधे को हार्वेस्ट करना है। हार्वेस्ट से मेरा मतलब है की सिर्फ फूलो को आपको तोड़ना है। अब हम बात करते है की लैवेंडर के पौधे को हम ऊगा कैसे सकते है।

तो दोस्तों आप लैवेंडर के पौधे को दो तरीके से ऊगा सकते है। सबसे पहला तरीका है बीज से नर्सरी करके आप इस पौधे को ऊगा सकते है। इसके अलावा बात करे दूसरे तरीके की तो इसमें आप कलम लगाकर इस पौधे की खेती कर सकते है। दोस्तों अब हम बात करते है की बीज की मदत से लैवेंडर की खेती Lavender Farming कैसे करे। 

मोती की खेती कैसे की जाती है? घर बैठें करें लाखों की कमाई Pearl Farming Hindi

लैवेंडर की खेती की रोपाई कैसे करें Lavender Farming

  1. बीज की मदत से लैवेंडर की खेती कैसे करें 

Lavender Farming बीज से खेती के लिए सबसे अच्छा महीना नवंबर से दिसंबर है। आप अगर बीज की मदत से अगर लैवेंडर की खेती करना चाहते है। तो आपको सबसे पहले इसके लिए लैवेंडर के बीज लाने होंगे। जो आपको आसानी से मार्केट में मिल जायेगे। बीज लाने के बाद आपको सबसे पहले एक खुली जगह ढूंढनी है जिस जगह पर आप इन बीजो को उगाने वाले है। 

जगह मिलने के बाद आपको उस जगह पर लैवेंडर के बीज छिड़कने है।1 Square Meter अंतर के अंदर आपको 2.5 ग्राम लैवेंडर के बीज को छिड़कना है। इसके बाद जो पौधे इन बीजों से निकलेंगे उन्हें आपको अपने खेत के अंदर रोप देना है। इस तरह से आप बीज की मदत से लैवेंडर की खेती कर सकते है। 

  1. कलम की मदत से लैवेंडर की खेती कैसे करें 

आप कलम की मदत से भी लैवेंडर की खेती कर सकते है। आप किसी भी नर्सरी से लैवेंडर की खेती के लिए कलम ला सकते है। इसके अलावा बात करे इसकी कलम की रोपाई की। तो कलम की रोपाई आप उसी तरह से कर सकते है। जैसे आपने बीज से पौधा बनाते वक़्त की थी बस रोपाई करते वक़्त एक बात का ध्यान दें की पौधे की रोपाई के दौरान उसकी आपस में 25 से 30 सेंटीमीटर की दुरी होनी चाहिए। 

मधुमक्खी पालन कैसे करे, शहद बनाने, खर्चा, प्रॉफिट सभी जानकारिया जाने Honey Bee Farming in Hindi

लैवेंडर के पौधे की सिंचाई कैसे करें

लैवेंडर की खेती Lavender Farming में सिंचाई की ज्यादा जरूरत नहीं होती है। लैवेंडर के पौधों की पौधे खेत में लगाने के तुरंत बाद सिंचाई कर देनी है। इसके बाद आपको खेत में नमी बनाये रखने के लिए आवश्यकता के अनुसार सिंचाई करते रहनी है। इसकी खेती में आपको पानी को अधिक मात्रा में इस्तमाल नहीं करना चाहिए। इस तरह से आप लैवेंडर के पौधों की सिंचाई  कर सकते है। 

लैवेंडर की खेती के लिए उर्वरक

लैवेंडर की खेती के लिए उर्वरक के तौर पर आप पुरानी गोबर की खाद खेत में डाल सकते है। इसके साथ ही आप 25 Kg Urea, 26 Kg Phosphorus,16 Kg Potash इन्हे अपने खेत में खाद के साथ डाल सकते है। लैवेंडर के पौधे एक बार लगाने के बाद कई सालों तक पैदावार देते हैं। इसी लिए आप हर साल चार बार अपने खेत में 20 Kg Urea डाल सकते है। इससे पौधों का विकास अच्छे से होता हैं और पैदावार भी अधिक देखने को मिलती है।

स्ट्रॉबेरी की खेती कब और कैसे करें, ऐसे होगी मोटी कमाई Strawberry Farming Hindi

लेवेंडर के पौधों की कटाई (Harvesting)

लैवेंडर के पौधों Lavender Farming की हार्वेस्टिंग आपको पौधे लगाने के दो साल बाद करनी है। इसकी हार्वेस्टिंग अगस्त से सितम्बर महीने में की जाती है। इसकी हार्वेस्टिंग करने का तरीका भी मैं आपको बता देता हु। इस पौधे को हमेशा फूल के 10 सेंटीमीटर निचे से काटना चाहिए। 

लैवेंडर के तेल के उपयोग क्या है? Lavender Farming

लैवेंडर का तेल बहुत इस चीज़ो में इस्तमाल किया जाता है। जैसे परफ्यूम,शैम्पू,मालिश का तेल,अगरबत्ती इन सब में इस्तमाल होता है। 

लैवेंडर की खेती में लागत और मुनाफा कितना है?

लैवेंडर की खेती Lavender Farming Profit and Cost में आपको 50 हज़ार से 60 हज़ार तक की लागत लग सकती है। इसमें आपको बीज या कलम खरीदने के लिए साथ में उर्वरक खरीदने के लिए इतने पैसे चाहिए होंगे। यह इन्वेस्टमेंट मैंने आपको एक एकड़ के हिसाब से बताई है। इसमें आपके पास ज्यादा खेती है तो आपको ज्यादा इंवेस्टमनेट लग सकती है। इसके साथ ही बात करे लैवेंडर की खेती से मुनाफे की। 

लैवेंडर की खेती में आप दो तरह से कमाई करते है। पहला तरीका है यह है की इसमें आप लैवेंडर का तेल निकाल कर उस तेल को बाज़ार में बेचते है। आज बाज़ार में लैवेंडर के तेल की किंमत 10,000 प्रति किलो है। इसके अलावा दूसरे तरीके से आप लैवेंडर के फूलो Lavender Farming को बेच भी सकते है। अब बात करे की एक एकड़ में कितना लैवेंडर का तेल निकालता है।

मशरूम की खेती का व्यापार कैसे करे-सरकारी सब्सिडी के साथ Mushroom Farming Business Hindi

तो दोस्तों एक एकड़ लैवेंडर के फूलो से 25 से 30 किलो तक लैवेंडर का तेल निकालता है। इस हिसाब से देखे तो 10,000*30= 3,00,000 तो आपको इसकी खेती में तीन लाख तक की सालाना इनकम एक एकड़ से हो सकती Lavender Farming Profit है। 

तो दोस्तों इस तरह से आप लैवेंडर की खेती Lavender Farming in India Hindi कर सकते है। आपको अगर हमारे द्वारा दी जानकरी अच्छी लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। 

Ankit Kashyap
Ankit Kashyap
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकित कश्यप है मै businessme.in का फाउंडर हु इस ब्लॉग के दुवारा मै अलग अलग जगह से सभी जानकारिया जुटा कर आप तक इस ब्लॉग के माध्य्म से पहुंचाता हु ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज  निवेश, फाइनेंस, स्टॉक मार्किट और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है अगर आप किसी अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करना चाहते है तो आप हमको सम्पर्क करने के लिए [email protected] और [email protected] पर सम्पर्क कर सकते है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular