HomeFarming Ideasमोती की खेती कैसे की जाती है? घर बैठें करें लाखों की...

मोती की खेती कैसे की जाती है? घर बैठें करें लाखों की कमाई Pearl Farming Hindi

Pearl Farming hindi, Pearl Cultivation Prepare Pond, pearl farming business plan hindi, pearl in hindi, cost of pearl farming, moti ki kheti kaise kare, moti farming, moti ki kheti kaise karen.

नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करने वाले मोती की Pearl Farming hindi खेती कैसे करे। आज भारत में भी बहोत से यैसे लोग है जो मोती की खेती कर रहे है। इसका सबसे बड़ा कारण ये है की मोती की डिमांड पुरे विश्व भर में बढ़ती जा रही है। इसके साथ ही भारत में भी मोतियों की डिमांड काफी तेज़ी से बढ़ रही है। पर भारत में आज भी बहोत से लोग मोती की खेती के बारेमे जानते भी नहीं है। 

इस लिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको Pearl Farming in Hindi से जुडी पूरी जानकरी देने वाले है। जैसे इस बिज़नेस से जुड़ा आप प्रशिक्षण कहा ले सकते है, मोती कैसे बनता है इसके अलावा मोती को बेचे कैसे? इस तरह के सारे टॉपिक इस आर्टिकल में कवर किये गए है। तो सबसे पहले हम जानते है की मोती क्या है?

मोती क्या है और मोती का इस्तेमाल 

आपमें से बहोत से लोगो को मोती क्या है ये पता होगा। पर जिन लोगो को नहीं पता की मोती क्या है? उन लोगो को मैं बता दू की मोती एक तरह का हार्ड पदार्थ होता है। जो मुलायम टिश्यू वाले जीवों से पैदा किया जाता है। एक मोती को बनाने के लिए लगभग 10 से 15 महीने का समय चाहिए होता है। इन मोतियों का इस्तमाल हार, माला, ब्रेसलेट, ज्वेलरी यह सब बनाने के लिए होता है। 

मधुमक्खी पालन कैसे करे, शहद बनाने, खर्चा, प्रॉफिट सभी जानकारिया जाने Honey Bee Farming in Hindi

मोती की खेती कैसे करें Pearl Farming hindi

मोती की खेती Pearl Farming hindi पानी में की जाती है। इसे आप तालाब या वाटर टैंक में शुरू कर सकते है। इस बिज़नेस के लिए आपको ज्यादा इन्वेस्टमेंट नहीं लगती है। हाला की अगर आप ज्यादा पैसे इन्वेस्ट कर सकते है। तो आप बड़े तालाब और सीपों के साथ इस बिज़नेस को शुरू कर सकते है। इस बिज़नेस में आपको सीपों की जरूरत होगी जो आपको नदियों या बाज़ार में आसानी से मिल सकते है। 

  1.  मोती की खेती का प्रशिक्षण ले 

किसी भी बिज़नेस को करने से पहले हम उस बिज़नेस के बारेमे पूरी जानकरी ले लेनी चाहिए। इसी वजह से आप अगर मोती की खेती का व्यापार करना चाहते है। तो आपको सबसे पहले इसका प्रशिक्षण लेना होगा। इसका प्रशिक्षण आप कही से भी ले सकते है। आप जहा भी रहते है वही आसपास अगर मोती की खेती का व्यापार करता है। तो उनसे भी इस बिज़नेस का प्रशिक्षण ले सकते है। 

इसी के साथ ही आप कृषि विज्ञान केन्द्र या भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद् इन्हे भी संपर्क कर सकते है। इनसे आप एक बार मोती की खेती का प्रशिक्षण ले उसके बाद किसी दूसरे इंसान के पास जॉब भी कर सकते है। अब मैं ये इस लिए कह रहा हु की आपको नॉलेज प्रशिक्षण केंद्र से मिलेगा और एक्सपीरियंस अपने जॉब से इस लिए अपना बिज़नेस करने से पहले जॉब जरूर करे। 

स्ट्रॉबेरी की खेती कब और कैसे करें, ऐसे होगी मोटी कमाई Strawberry Farming Hindi

  1. जगह का चुनाव करना  Pearl Farming

एक बार आपका प्रशिक्षण पूरा हो जाए उसका बाद आप अपना बिज़नेस कर सकते है। इसके लिए सबसे पहले आपको जगह का चुनाव करना होगा। आप इसे किसी भी खुली जगह या अपने खेत में कर सकते है। बात करे की इस बिज़नेस को करने के लिए कितनी जगह की जरूरत है। तो आप इसे 750 Square Feet इतनी जगह से शुरू कर सकते है। आपके पास अगर खुद का खेत नहीं है तो आप इसे अपने घर के छत पर भी कर सकते है। आप इसे अपने घर के छत पर एक टैंक की मदत से कर सकते है। 

  1. फार्म बनाना शुरू करे 

एक बार जगह का चुनाव होने के बाद बारी आती है फार्म बनाने की। फार्म बनाने के लिए आप टिन या लड़की का इस्तमाल कर सकते है। इसके अलावा आपको मोती की खेती करने के लिए तालब की भी जरूरत होगी। तो तालाब भी आप बनवा सकते है इसके लिए आपको 50×25×30 इतनी जगह का तालब बनाना होगा। इतने तालाब में 5000 से 6000 सीप डाल सकते है। 

मशरूम की खेती का व्यापार कैसे करे-सरकारी सब्सिडी के साथ Mushroom Farming Business Hindi

  1. सीप को पकड़ कर लाये 

इसके बाद आपको सीप लाने होंगे जो आपको बाज़ार में देखने को मिलते है। इसे आप या तो बाज़ार से खरीद सकते है या किसी मछवारे से भी डायरेक्ट खरीद सकते है। यह सीप ज्यादा तर नदियों, झीलों, तालाबों इन सब में देखने को मिलती है। इस एक सीप की किंमत लगभग 10 से 15 रुपये होती है ये जगह के हिसाब से कम या ज्यादा भी हो सकती है। 

सीप को मोती बनाने के लिए कैसे तैयर किया जाता है?

सबसे पहले सीप को 2 से 3 दिन तक पानी में डाला जाता है। इससे सीप के ऊपर की कवच और मांसपेशियां नरम हो जाती हैं। इसके बाद उस सीप में छोटी सी सर्जरी की जाती है उस सर्जरी के माध्यम से उसमे एक छोटा छेद किया जाता है। इस छेद में एक रेट का छोटा सा कम डाल कर फिर उसे बंद किया जाता है। अब रेत के कण से सीप में चुभन होती है जिससे इसके अंदर मोती बनने वाला पदार्थ निकलता है। 

इस छेद में से रेत का एक छोटा सा कण डाल कर सीप को बंद कर दिया जाता है। अब मैं आपको एक बात बता दू की सीप में से मोती निकलने के लिए 10 से 15 महीने तक समय लगता है। कभी कभी इससे भी ज्यादा समय लगता है इसी वजह से मोती की खेती Pearl Farming करने का काम काफी संयम वाला है। 

मोती की खेती का सही समय (Pearl Farming Right Time)

मोती के उत्पादन के लिए सर्दियों का मौसम Pearl Farming सबसे उपयुक्त माना जाता है | अक्टूबर और दिसंबर का महीना मोती की खेती के लिए सबसे उचित माना जाता है | सीप में बीड को डालकर शल्य क्रिया द्वारा तैयार किया जाता है कुछ समय तक प्राकृतिक चारे और एंटी-बायोटिक पर रखकर उसे तालाब में डाल देते है इसके बाद उन्हें उचित मात्रा में पोषक Pearl Farming तत्व दिया जाता है

बकरी फार्म की जानकारी ऐसे करे लाखो की कमाई Goat Farming Business In Hindi

मोती बनाने की प्रक्रिया Pearl Farming Process

  1. जैसा की मैंने आपको थोड़ी देर पहले बताया मोती बनाने के लिए आपको सीप एक छोटा छेद करना पड़ता है। 
  2. इस प्रोसेस से आपको गोल मोती देखने को मिलेगा आपको अगर डिज़ाइनर मोती चाहिए। तो आपको उसी प्रोसेस में रेट की जगह अपनी पसंद की आकृति वाली डिज़ाइन बीड डालनी होगी। इसके बाद आपको उस सीप को पूरी तरह से बंद करना होगा। 
  3. इसके बाद उन सब सीप को 10 से 15 दिनों तक एंटी-बायोटिक और प्राकृतिक चारे के साथ नायलॉन  के बैग में रखा जाता है। इसके बाद उस बैग में रखे सभी सीपों का निरिक्षण किया जाता है। जो ख़राब या मरी सीपे है उन्हें अलग करने के बाद बाकी अच्छी सीपो को तालाब में या टैंक में 1 मीटर की गहराई पर डाला जाता है। 
  4. इसके बाद सीप में मोती बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इसके बाद 10 से 15 महीने के बाद सीप से मोती निकाला जाता है। 
  5. इस तरह से आप मोती की खेती कर सकते है। 

मोती की खेती में लगने वाले सामन (Equipment)

इस बिज़नेस में आपको ज्यादा Equipment की जरूरत नहीं है। इस बिज़नेस में आपको सबसे पहले जगह की जरूरत होगी। आप किसी भी फार्म में इस बिज़नेस को कर सकते है। इसके अलावा आपको टैंक,सीप,पानी इन सब चीज़ो की जरूरत होगी। इसके साथ आपको अपने फार्म को सुरक्षित रखने के लिए फैंसिंग भी करनी होगी। 

मोती की खेती में लगने वाली लागत (Investment)

Pearl Farming Investment- इस बिज़नेस को आप 50 से 1 लाख रुपये में कर सकते है। इस बिज़नेस में आपकी इन्वेस्टमेंट तालाब बनाने में और सीप लाने में होती है। आप अगर इस बिज़नेस को करने के लिए कच्चा तालाब बनवाते है। तो उस कच्चा तालाब बनवाने के लिए आपको 20 हज़ार की इन्वेस्टमेंट लग सकती है। इसके अलावा पक्का तालाब बनवाने के लिए आपको 40 से 45 हज़ार लग सकते है। 

इस बिज़नेस में आपको सीप भी खरीदने होते है। जो आपको मार्केट में 10 से 15 रुपये का एक देखने को मिलता है। इस तरह से देखे तो आप इस बिज़नेस को 3,000 सीप से अगर करते है। तो आपको 3000*10=30,000 तो आपको 30 हज़ार की इन्वेस्टमेंट Pearl Farming Cost सीप में लगती है। तो इस तरह से आप इस बिज़नेस को 50 हज़ार से 1 लाख तक कर सकते है। 

मछली पालन बिज़नेस शुरू से लाभ कमाने तक की जानकारी Fish Farming in Hindi

मोती कहा और कैसे बेचे?

अब हम बात करते है की मोती कहा और कैसे बेचे। इसका जवाब है की आप मोती ऑनलाइन,ऑफलाइन कही पर भी बेच सकते है। आज ऑनलाइन इंडियामार्ट जैसी वेबसाइट है जहा पर आप आसानी से खरीदार तक पोहच सकते है। इसके अलावा आप ऑफलाइन ज्वेलर्स से भी कांटेक्ट कर सकते है वह भी आपसे आपके मोती खरीद सकते है। 

मोती के खेती में होने वाला प्रॉफिट (Profit)

Pearl Farming Profit- इस बिज़नेस को भारत में ज्यादा तर लोग नहीं कर रहे है। इसी वजह से आपको इस बिज़नेस में अच्छा प्रॉफिट देखने को मिलता है। आप अगर 3000 सीप से इस बिज़नेस को करते है इसका मतलब ये है की आपको 10 से 15 महीने के बाद 3000 मोती देखने को मिलेंगे। आज एक मोती की किंमत बाज़ार में 200 रुपये है इसका मतलब ये है की 3000*200= 6 लाख। तो आपको इस बिज़नेस से 1 साल में 6 लाख का प्रॉफिट हो सकता है। 

अगर आपको Pearl Farming Business Hindi से जुडी जानकारी से कुछ सिखने को मिला तो शेयर जरूर करे धन्यवाद्।

Ankit Kashyap
Ankit Kashyap
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकित कश्यप है मै businessme.in का फाउंडर हु इस ब्लॉग के दुवारा मै अलग अलग जगह से सभी जानकारिया जुटा कर आप तक इस ब्लॉग के माध्य्म से पहुंचाता हु ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज  निवेश, फाइनेंस, स्टॉक मार्किट और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है अगर आप किसी अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करना चाहते है तो आप हमको सम्पर्क करने के लिए [email protected] और [email protected] पर सम्पर्क कर सकते है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular