HomeBUSINESS IDEA'sराइस मिल शुरू करने की लागत, मशीने, नियम सभी जानकारिया Rice Business...

राइस मिल शुरू करने की लागत, मशीने, नियम सभी जानकारिया Rice Business in India Hindi

Rice Business in India Hindi, Rice Business in India in Hindi, Rice mill business cost, rice business plan Hindi, rice business hindi,rice information in hindi, rice information in hindi, rice mill business.

Rice Mill Business Plan in Hindi- क्या आप राइस मिल बिज़नेस की शुरुवात करने के लिए सोच रहे है या फिर चावल का होलसेल बिज़नेस कैसे करे तो आपको इसे जुडी सभी जानकारिया आपको इस लेख के ज़रिये विस्तार से बताने वाले है की आप अपना राइस मिल उद्योग कैसे शुरू कर सकते है इसलिए पूरी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। rice mill business plan

How to start rice mill business Hindi – भारत आबादी के हिसाब से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है और 67% आबादी चावल पर निर्भर है क्योकि चावल ही भारतीयों की पहली पसद का खाना है भारत में आज भी ग्रामीण इलाकों में कृषि मुख्या आजीविका है और आज भारत चीन के बाद दूसरे नंबर पर चावल उगाने में दूसरे नंबर पर आता है अगर आप चावल से जुड़ा व्यावास शुरू करना चाहते है तो उसके लिए राइस मिल की शुरुवात करनी पड़ेगी जिसकी पूरी जानकारी आपको निचे इसी आर्टिकल में मिलेगी। how to start rice mill business in india

राइस मिल उद्योग क्या है?

Rice Mill Business Information in Hindi- राइस मिल बिज़नेस वह बिज़नेस होता है जो चावल हमको खेती करके मिलता है वो आमतौर पर खाने के लायक नहीं होता है उसे खाने लायक बनाने के लिए खेती से निकलने वाले चावल में एक प्रक्रिया दुवारा खाने लायक बनाया जाता है और वो सभी प्रक्रिया राइस मिल में होती है राइस मिल में ही खेती किया हुआ चावल लाया जाता है और उनको मशीनो की मदद से खाने लायक बनाने के बाद मार्किट में लाकर लोगो तक पहुंचाया जाता है। rice distribution business in india

Rice मिल की डिमांड कितनी है?

क्या आप जानते है की भारत में 75% व्यक्ति खाने के साथ चावल का प्रयोग करते है और चावल के साथ अनेक प्रकार के खाने बनाये जाते है और साथ में चावल को भारत में पवित्र भी माना जाता है और यह पूजा करने में भी काम आता है अगर आप चावल की डिमांड का अंदाजा लगाना चाहते है तो यह लोगो की रोजमर्रा में प्रयोग होने वाली खाने में शामिल है जो हर रोज उपयोग की जाती है और मार्किट में कभी भी खाने की चीज़ो में कभी भी मंदी नहीं आती है इसलिए इसकी डिमांड लोगो को अपने घर में रोज पूरी करनी होती है क्योकि इंडिया के अन्दर बहुत अच्छी क्वालिटी के चावल का उत्पादन किया जाता है इसलिए चावल के बिज़नेस के इंडिया के अन्दर बहुत ज्यादा स्कोप है और इसमें अच्छे पैसे कमाए जा सकते है। how to start rice distribution business

हमारे देश में बासमती चावल का उत्पादन बृहद स्तर पर किया जाता है इसके अलावा जिन देशों में चावल का उत्पादन नहीं होता है उन देशों में हम चावल का निर्यात करते हैं यानी उन्हें हम चावल भेजते हैं जैसे संयुक्त अरब अमीरात, कुवैत, ईराक, ईरान, सऊदी अरब आदि।

ट्रांसपोर्ट व्यवसाय कैसे शुरू करें Transport Business in India Hindi

राइस मिल के लिए जगह का महत्व

जब मिल के लिए जगह का चुनाव इस प्रकार करे जहा आपको खेती आने वाला चावल आसानी से मिल सके इसके लिए आप जहा चावल की खेती होती है उसके आस पास ही अपना राइस मिल लगाना चाहिए जिसके लिए आपको कच्चे माल को खरीदने में कोई परेशानी नहीं होगी इसके लिए आपको कही दूर से कच्चा माल मगवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी जिसे आपको भाड़े का खर्चा बचेगा।

कच्चा माल को रखने के लिए एक गोदाम की भी आवशकता होगी आप इस तरह की उचित व्यवस्था कर सकते है जहा आपका कच्चा माल भी आ जय और आपकी मशीने भी लग जाय उसके लिए आपको अपने कर्मचारियों का भी ख्याल रखना चाहिए जहा वो अच्छी तरीके से काम कर सके जिसे उनको काम करने के लिए पर्यापत मात्रा में जगह उपलब्ध हो।

Rice Mill Plant लगाने के लिए आपके पास कम से कम 2000 से 3000 वर्ग फुट जगह की आवश्यकता होगी।

मुर्गी पालन का बिजनेस कैसे शुरू करें Poultry Farm Business Plan 2021 in Hindi

राइस मिल उद्योग के लिए मशीने

Rice mill machine- राइस मिल लगाने के लिए आपको कुछ मशीनों की जरूरत पडती है जैसे-

  • Weighing Machine
  • Escalator
  • Elevator
  • Pump
  • Husk Aspirator
  • Destoner
  • Friction Whitener
  • Sifter
  • Length Grader
  • Rice Sorter
  • Sack Stitching Machine
  • Centrifugal Blower

Rice mill machine parts- आप ये सभी मशीने  Indiamart.com की वेबसाइट पर भी जाकर खरीद सकते है।

Raw Material क्या क्या लगेगा?

how to start a rice mill business in hindi- आपको इस बिज़नेस के केवल कच्चा चावल ही खेतो से मगवाना है इसके लिए आप अपने आस पास के किसानो से संपर्क कर सकते है या किसी अन्य जगह से अपना कच्चा माल खरीदकर उसको अच्छी तरह से खाने वाले चावल की परक्रिया में बदलकर मार्किट में अच्छे दामों में बेच सकते है। rice trading business

दोस्तों चावल का उत्पादन करने के लिए आपको मुख्य रूप से धान की आवश्यकता होगी सबसे अधिक धान का उत्पादन भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में किया जाता है साथ ही भारत के कुछ अन्य राज्य भी हैं जैसे उत्तर प्रदेश, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, उड़ीसा इन सभी राज्यों में भी पर्याप्त मात्रा में धान का उत्पादन किया जाता है। 

नई गैस एजेंसी कैसे खोले 2021-22 How to Open Gas Agency Hindi

राइस मिल Project Cost

rice mill business cost- लागत आपकी निर्भर करती है की आप ये बिज़नेस कितने बड़े लेवल पर करना चाहते है इसके लिए अलग अलग प्रकार की क्षमता वाली मशीनो की जरूरत पड़ती है जगह और लेवर का खर्चा भी आता है वाहन भी ख़रीदे पड़ते है और अन्य प्रकार के खर्चे भी होते है। Wholesale rice distributors in India

Rice mill plant setup cost in India- आप इस बिज़नेस Rice Business की शुरुवात 10 लाख से छोटे लेवल पर कर सकते है और इसे कितनी भी लागत लगाकर बड़ा बिज़नेस सेटअप कर सकते है। rice mill business investment

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री कैसे शुरू करें?Automobile Business Plan Hindi

Rice Business in India में कमाई

rice mill business profit- इस बिज़नेस के अन्दर 30 % से 40% से ज्यादा प्रॉफिट मार्जिन मिलता है जो आपकी कमाई है वो आपके निवेश पर भी निर्भर करती है आप जितने बड़े लेवल पर इस बिज़नेस की शुरुवात करते है तो आप इसे ज्यादा मुनाफा भी कमा सकते है अगर आप शुरुवात में 10 लाख लगाकर इस बिज़नेस की शुरुवात करते है तो आप आसानी से महीने का 1 से 1.50 रुपए महीने का कमा सकते है।

राइस मिल पर सरकारी सब्सिडी

आत्मनिर्भर स्कीम के साथ राइस मिल के मालिक को रोजगार के लिए 25 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है और साथ में 10 लाख तक की सब्सिडी और 40 प्रतिशत का अनुदान भी मिलेगा योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को 3 प्रतिशत का ब्याज अनुदान भी अलग से उपलब्ध कराया जाएगा राइस मिल प्राेसेसिंग के लिए लाेन दिया जाएगा उसके लिए आवदेनकर्ता www.chc.mpdage.org पर आवेदन कर सकते हैं।

तो इस प्रकार के व्यापार को शुरू करने के लिए 10% खुद वहन करना पड़ता है और 90% सरकार लोन के रूप में मुहैया कराती है।

भारत में E-Commerce बिज़नेस कैसे शुरू करे E- Commerce Business Hindi

चावल उत्पादन की प्रक्रिया

चावल का व्यापार कैसे करें?- बाजार में चावल मुख्यतः दो प्रकार से उपलब्ध रहता है एक पका हुआ चावल और दूसरा कच्चा चावल कच्चे चावल को सीधे धान से छिलका, चोकर हटाकर प्राप्त किया जाता है जबकि पके हुए चावल को उबालने के बाद छिलका हटाकर प्राप्त किया जाता है पका हुआ चावल में उबालने और सुखाने की प्रक्रिया को छोड़कर बाकी दोनों की सभी प्रक्रियाएं सामान होती हैं पके हुए चावल का प्रयोग उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों के कुछ भागों में किया जाता है आइये दोस्तों अब जानते हैं की किस तरह से आप चावल का उत्पादन कर सकते हैं-

  • सबसे पहले क्लीनिंग मशीन से धान को साफ किया जाता है।
  • इसके बाद De-Stoning Machine से धान के अन्दर मौजूद छोटे-छोटे कंकड़-पत्थर को अलग किया जाता है।
  • फिर husking मशीन में धान डाला जाता है जो ऊपर का छिलका उतारने का काम करता है।
  • इसके बाद paddy separator मशीन से चावल को अलग और धान को अलग किया जाता है।
  • इसके बाद whitening मशीन से चावल के ब्राउन राइस की परत और रोगाणुओं के हिस्से को अलग किया जाता है।
  • फिर पोलिशिंग मशीन से चावल को पोलिश किया जाता है।
  • इसके बाद चावल के छोटे-बड़े टुकड़ों को ग्रेडिंग मशीन से अलग किया जाता है।
  • फिर पैकिंग करके मार्किट में भेज दिया जाता है।

Indane गैस एजेंसी कैसे खोले 2021-22 Indane Gas Agency Dealership Hindi

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की जरूरत

अपना राइस मिल शुरू करने के लिए आपको 4 प्रकार से अपनी कंपनी की शुरुवात कर सकते है जैसे:-

  • Private Limited
  • LLP-Limited Liability Company
  • Sole Proprietorship
  • One Person Company
  • Partnership Firm
  • सबसे पहले अपने फ़र्म का रजिस्ट्रेशन करवाएं।
  • तत्पश्चात GST रजिस्ट्रेशन करवाएं।
  • उद्योग आधार में पंजीकरण करवाएं।
  • फ़ूड लाइसेंस के अंतर्गत FSSAI लाइसेंस लें।
  • pollution control board से NOC लें।
  • यदि अपने देश के अलावा बाहर के देशों में भी निर्यात करना चाहते हैं तो Import Export Code भी लेना पड़ेगा।
  • साथ ही यदि जरुरत पड़ा तो ESI (Employee State Insurance) एवं EPF (Employee Provident Fund) रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ सकता है।

इसके आप लाइसेंस के लिए आपको Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) से लाइसेंस लेने की जरूरत होती है ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ पढ़े:- अपनी कंपनी रजिस्ट्रेशन कैसे करवाये

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन के लिए डाक्यूमेंट्स की जरूरत

Personal Document (PD) :- Personal Document के अन्दर बहुत से डॉक्यूमेंट होते है जैसे :-
ID Proof :- Aadhaar Card , Pan Card , Voter Card
Address Proof :- Ration Card , Electricity Bill ,
Bank Account With Passbook
Photograph Email ID , Phone Number ,
Other Document 
 TIN No. & GST No.

  • Complete Property Document With Title & Address
  • Lease Agreement
  • NOC

चावल के व्यापार को कैसे बढ़ाएं ?

किसी भी व्यापार को शुरू करने के बाद प्रोडक्ट को बना लेना शाबाशी नहीं होती बल्कि उस प्रोडक्ट को कितने लोग खरीद रहे हैं ये important होता है इसलिए अपने व्यापार को बढाने के लिए जगह-जगह पोस्टर बैनर लगवाएं तमाम सोशल मीडिया पर ads दे सकते हैं। अपने आस-पास के किराना शॉप, होटल, ढाबा आदि पर अपने प्रोडक्ट के samples दिखाएँ चूँकि आपका बिजनेस नया है इसलिए आप अपने ग्राहकों को बीच-बीच में उपहार भी दे सकते हैं इसके अलावा बिक्री बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रकार के मार्केटिंग स्ट्रेटेजी को भी अपना सकते हैं। how to start a mini rice mill

अगर आपको Rice Business in India Hindi बिज़नेस से जुडी जानकारी से कुछ सिखने को मिला तो शेयर जरूर करे धन्यवाद्।

Ankit Kashyap
Ankit Kashyap
हेलो दोस्तों, मेरा नाम अंकित कश्यप है मै businessme.in का फाउंडर हु इस ब्लॉग के दुवारा मै अलग अलग जगह से सभी जानकारिया जुटा कर आप तक इस ब्लॉग के माध्य्म से पहुंचाता हु ये ब्लॉग आपको बिज़नेस आइडियाज  निवेश, फाइनेंस, स्टॉक मार्किट और अन्य प्रकार की जानकारिया देता है अगर आप किसी अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करना चाहते है तो आप हमको सम्पर्क करने के लिए [email protected] और [email protected] पर सम्पर्क कर सकते है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular