किसी भी Shares का Technical Analysis कैसे करे Technical Analysis in Hindi

Published by Ankit Kashyap on

Technical Analysis in Hindi

Technical analysis in hindi, Technicalanalysisofstocks blog, Technical analysis course in hindi, Technical knowledge in hindi, Technical analysis of stocks, Technical analysis of stock trends, Stock market technical analysis, Share market technical analysis.

Stock Market Technical Analysis Hindi- किसी भी कंपनी का शेयर्स का तकनीकी विश्लेषण (Stock Technical Analysis Hindi) उसके भविष्य में होने वाली गतिविधिओ को तय करता है और बताता है की कंपनी अपने काम से किस मुकाम पर है कंपनी कितनी मजबूत है।

शेयर मार्किट में प्रॉफिट कमाने के लिए शेयर में निवेश करने से पहले उसके ऊपर रिसर्च करना बहुत जरूरी है स्टॉक का तकनीकी विश्लेषण (Stock Technical Analysis Hindi) ) वॉल्यूम और कीमत सहित स्टॉक के ऐतिहासिक डेटा का अध्ययन कराता है।

Technical knowledge in hindi- कोई भी इन्वेस्टर जब किसी कंपनी के शेयर खरीदता है तो वह उस कंपनी से यही उम्मीद करता है की ये कंपनी आने वाले कुछ सालों के अंदर एक अच्छा Profit कमा कर दे शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी पर संपूर्ण रिसर्च करनी होती है और ये रिसर्च किस प्रकार की जाती है इसकी पूरी जानकारी आप इस लेख के जरिये पढ़ सकते है। technical analysis investopedia

तकनीकी विश्लेषण क्या है?

What is Technical Analysis Hindi- Share Market में Investment करने के लिए जिस प्रकार हम अपने अच्छे शेयर को ढूढ़ते है उस शेयर्स को ढूढ़ने की प्रकिया को Technical Analysis कहते है।

Analyze meaning in hindi- अगर आपको आसान शब्दो में समजाय की तकनीकी विश्लेषण क्या है तो आपको बता दे को ऐसा विश्लेषण वह है जो किसी भी शेयर की बाहर की स्थिति को देखकर किया जाता है जैसे शेयर का चार्ट शेयर के वॉल्यूम और पीछे आकड़ो को देखकर जब हम शेयर को खरीदते है उसे तकनीकी विश्लेषण कहा जाता है आमतौर पर ये विश्लेषण छोटे और नए निवशकों या शार्ट-र्टम ट्रेडर्स द्वारा उपयोग किया जाता है। technical meaning in hindi

किसी भी Shares का Fundamental Analysis कैसे करे

क्या तकनीकी विश्लेषण करने का बाद हमको मार्किट में निवेश करना चाहिए?

टेक्निकल एनालिसिस– Technical Analysis कंपनी के बाहरी साधनो से किया जा सकता है की कंपनी देखने में कैसी है मगर आपको टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद शेयर नहीं खरीदे है टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद आपको फंडामेंटल एनालिसिस करने बहुत जरूरी होते है। technically meaning in hindi

किसी भी शेयर का Technical Analysis करने के बाद हम अपने प्रॉफिट को बुक नहीं कर सकते बल्कि नए निवेशकों को तो ये भी सलाह दे जाती है की आपको Technical Analysis के बाद सीधा स्टॉक मार्किट में निवेश नहीं करना है क्योकि इसमें आपको ज्यादा रिस्क है यह केवल एक्सपर्ट्स और जो लोग शेयर मार्किट के बारे में अच्छे से जानते है उनके लिए अच्छा है। किस प्रकार किया जाता है? investopedia technical analysis

13 Expert टिप्स जो बनायेगे आपको शेयर मार्किट में Expert | Share Market Tips in Hindi

तकनीकी विश्लेषण किस प्रकार किया जाता है?

जैसा की हमने आपको बताया की Technical Analysis कंपनी के बाहरी साधनो से किया जा सकता है की कंपनी देखने में कैसी है मगर आपको टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद शेयर नहीं खरीदे है टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद आपको फंडामेंटल एनालिसिस करने बहुत जरूरी होते है।

How To Do Technical Analysis

1. Company के चार्ट (Chart) का उपयोग करना जिससे कंपनी के Share Price Movement के बारे में पता चलता है कंपनी की तरक्की भी उसका Share Market Graph (Chart) ही दर्शाता है।

2. Chart-Pattern को समझना की कंपनी का शेयर किस प्रकार निचे आता है और किस प्रकार ऊपर जाता है Chart-Pattern का Technical Analysis में काफी बड़ा रोल होता है।

3. इतिहास (Past) किसी कंपनी का इतिहास देखना की वो पीछे से कैसे परफॉर्म करती आ रही ये भी काफी जरूरी होता है।

4. Price-Range का Technical Analysis में भी काफी बड़ा रोल होता है इसलिए टेक्निकल एनालिसिस में आपको शेयर के मूलय का भी विश्लेषण करना चाहिए। meaning of technical analysis

शेयर मार्केट में पैसे कैसे इन्वेस्ट करें? -How to Invest in Share Market Hindi

तकनीकी विश्लेषण क्यों करना चाहिए?

जैसा की हम सबको पता है की शेयर्स मार्किट में Risk बहुत ज्यादा होता है और उस रिस्क से बचने के लिए शेयर मार्किट में निवेशों दुवारा तकनीकी विश्लेषण (Technical Analysis) किया जाता है।

शेयर मार्किट में कभी भी शेयर को उसके कीमत के हिसाब से नहीं खरीदना चाहिए क्योकि हर शेयर्स की कीमत हर दिन कभी बढ़ जाती है कभी घट जाती है लेकिन शेयर का तकनीकी विश्लेषण ही उसके बारे में सही जानकारी देता है।

जिसके कारण शेयर मार्किट ने निवेश करने से पहले तकनीकी विश्लेषण करना जरूरी है। technical stock analysis

Top 8 सुपरमार्केट फ्रैंचाइज़ी बिज़नेस Supermarket Franchise in India Hindi

Technical analysis Fundamental Analysis Difference

Technical analysis Fundamental Analysis Difference Hindi-

मौलिक विश्लेषण करने के लिए हमको सबसे पहले एक बड़ी सी कंपनी चुननी होती है जिसका Market-Cap काफी बड़ा हो मतलब उस कंपनी की कीमत ज्यादा हो।

उसके बाद कंपनी का मौलिक विश्लेषण दो प्रकार से किया जाता है। टेक्निकल एनालिसिस और फंडामेंटल एनालिसिस

Technical Analysis क्या होता है?

टेक्निकल एनालिसिस कंपनी के बाहरी साधनो से किया जा सकता है की कंपनी देखने में कैसी है मगर आपको टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद शेयर नहीं खरीदे है टेक्निकल एनालिसिस करने के बाद आपको फंडामेंटल एनालिसिस करने बहुत जरूरी होते है।

How To Do Technical Analysis

1. Company के चार्ट (Chart) का उपयोग करना जिससे कंपनी के Share Price Movement के बारे में पता चलता है कंपनी की तरक्की भी उसका Share Market Graph (Chart) ही दर्शाता है।

2. Chart-Pattern को समझना की कंपनी का शेयर किस प्रकार निचे आता है और किस प्रकार ऊपर जाता है Chart-Pattern का Technical Analysis में काफी बड़ा रोल होता है।

3. Price-Range का Technical Analysis में भी काफी बड़ा रोल होता है इसलिए टेक्निकल एनालिसिस में आपको शेयर के मूलय का भी विश्लेषण करना चाहिए।

4. इतिहास (Past) किसी कंपनी का इतिहास देखना की वो पीछे से कैसे परफॉर्म करती आ रही ये भी काफी जरूरी होता है।

Fundamental Analysis क्या होता है?

फंडामेंटल विश्लेषण का उपयोग हमेशा Long Time Frame में किया जाता है इसमें जल्दी पैसा कमाने का टारगेट नहीं रखा जाता है बल्कि अपने Portfolio को एक सही Rate of Return पर Compounding करने पर ध्यान दिया जाता है। technical analysis of stocks

फंडामेंटल एनालिसिस करने के लिए कंपनी के अन्दर की चीज़ो को परखा जाता है की कंपनी किस प्रकार का बिज़नेस करती है कंपनी की फाइनेंसियल स्टेटमेंट क्या है कंपनी से जुड़े लोग कौन कौन से है, उन लोगो कि PERSONAL BUSINESS EXPERIENCE और BACKGROUND क्या है इन सब की जानकारी हमे फंडामेंटल एनालिसिस दुवारा मिलती है।

How To Do Fundamental Analysis 

Fundamental Analysis करने के लिए हमे कंपनी के डाक्यूमेंट्स (Documents) की जांच करनी होती है जैसे:-

1. Balance Sheet पर नज़र डालना
2. P&L (Profit &Loss) Account पर नज़र डालना
3. Cash Flow Statements को चेक करना
4. Annual Report को देखना
5. Financial Ratio को देखना
6. PE Ratio नज़र डालना
7. EPS Earning Per Share नज़र डालना
8. Book Value को चेक करना
9. Management Analysis नज़र डालना
10. Profit And Sales Growth को देखना
11. Opponent Company की जांच करना
12. जिस क्षेत्र की कंपनी है उस क्षेत्र के नियम और कानून (Law and Rules)

इस तरह हम फंडामेंटल एनालिसिस में हम ये चेक करते है कि – हम जिस कंपनी का स्टॉक खरीदना चाहते है, वह कंपनी आर्थिक रूप से कितना STRONG है, और वो कंपनी फ्यूचर में कितना ग्रोथ कर सकती है।

अगर आपको Supermarket Franchise in India Hindi Technical Analysis in Hindi से जुडी जानकारी से कुछ सिखने को मिला तो शेयर जरूर करे धन्यवाद्।

Categories: STOCK MARKET

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *